Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

ये क्या ! मांगें न मानीं तो पी लिया पेशाब

ये क्या ! मांगें न मानीं तो पी लिया पेशाब

- Advertisement -

ऋण माफी के लिए किसान जंतर-मंतर पर कर रहे आंदोलन

Farmers-protest: नई दिल्ली। ऋण माफ कराने के लिए जंतर-मंतर पर आंदोलन कर रहे किसानों ने शनिवार को अपना मूत्र पी कर विरोध किया। इन किसानों को धरने पर बैठे 38 दिन हो चुके हैं। इससे पहले किसानों ने सरकार को धमकी दी थी कि अगर उनकी मांगें पूरी नहीं हुईं तो  वे शनिवार को अपना मूत्र पीएंगे और रविवार को अपना मल खाएंगे।

Farmers-protest: अलग-अलग तरीकों से बटोर रहे सुर्खियां

38 दिनों से किसान अलग-अलग तरीकों से आंदोलन कर सुर्खियां बटोर रहे हैं। गौर हो कि इससे पहले किसानों ने मानव कंकाल साथ रखे, नग्न होकर रायसीना हिल्स पर प्रदर्शन किया, चूहे और सांप खाए, नकली अंत्येष्टि भी की। अब इस लोगों ने ऋण माफी के लिए जन्तर-मंतर पर मूत्र तक पी डाला। आंदोलन की अगुआई कर रही नेशनल साउथ-इंडियन रिवर्स लिंकिंग फार्मर्स एसोसिएशन के स्टेट प्रेजिडेंट पी. अयाकन्नू ने कहा था कि हमें पीने के लिए तमिलनाडु में पानी नहीं मिल रहा है और पीएम नरेंद्र मोदी इसकी अनदेखी कर रहे हैं, तो हमें अब अपने मूत्र से ही प्यास बुझानी पड़ेगी।


आपको बता दें कि 20 अप्रैल को एक शख्स ने पीएम मोदी का मुखौटा पहनकर वहां बैठे सारे किसानों पर कोड़े लगए थे। प्रदर्शन कर रहे किसानों ने कहा था कि हम लोगों को नजरअंदाज करके मोदी ने बता दिया कि वह हम लोगों को दिल्ली से भगाना चाहते हैं, कभी-कभी तो हमें लगता है कि इससे अच्छा तो हम लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाए।

क्या है मामला

तमिलनाडु के किसान 38 दिनों से दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे हैं। ये किसान केंद्र से अपने लोन की माफी की मांग कर रहे हैं। उन किसानों का कहना है कि उनकी फसल कई बार आए सूखे और चक्रवात में बर्बाद हो चुकी है। किसानों ने उन लोगों को मिलने वाले राहत पैकेज पर भी पुनर्विचार करने के लिए कहा है।  किसानों की यह भी मांग है कि उनको अगली साल के लिए बीज खरीदने दिए जाएं और हुए नुकसान की भरपाई की जाए।

यह भी पढ़ें-PMO के बाहर निर्वस्त्र होकर सड़क पर दौड़े नाराज किसान

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है