Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,782
मामले (भारत)
201,005,476
मामले (दुनिया)
×

यूनिवर्सल कार्टन विधेयक लाने में जल्दबाजी न करे सरकार, पहले हो यह काम

यूनिवर्सल कार्टन विधेयक लाने में जल्दबाजी न करे सरकार, पहले हो यह काम

- Advertisement -

शिमला। फेडरेशन ऑफ एप्पल ग्रोवर ऑफ एचपी (FOAG) की एक विशेष बैठक गुम्मा-कोटखाई में संपन्न हुई। बैठक में पीजीए (PGA), एचएजीएस (HAGS), ओवीजीए (AVGA), YUGA, KGHS, Chuwara Valley व AGA सहित एक दर्जन बागवानी संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। बैठक में सरकार द्वारा लाए जा रहे यूनिवर्सल कार्टन को अनिवार्य किए जाने वाले प्रस्तावित विधेयक पर गहन चर्चा की गई। आम राय रही कि विधेयक को विधान सभा में पेश करने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। बागवानों में इस विधेयक के प्रति डर और संशय की स्थिति बनी हुई है।


बागवानों ने आम राय से यह शंकाए की जाहिर

यूनिवर्सल कार्टन लागू करने से प्रति कार्टन लागत 30 फीसदी तक बढ़ जाएगी, उसकी भरपाई कैसे होगी। क्या सरकार इस विषय को विधेयक में लाएगी। 50 से 60 फीसदी सेब बी ग्रेड सी ग्रेड रेड गोल्डन या अन्य किस्म का होता है। 20 किलो की पैकिंग में इसे बेचना मुश्किल हो जाएगा। सरकार इस नुकसान की भरपाई कैसे करेगी। सेब की पेटी के भाड़े को वजन के आधार पर किया जाना चाहिए और इसे विधेयक का हिस्सा बनाया जाना चाहिए। बागवानों को मंडियों में लेबर के नाम पर ठगा जा रहा है। इस विषय को भी विधेयक का हिस्सा होना चाहिए, ताकि बागवानों का शोषण ना हो। बागवान चाहते हैं कि ऐसा ही विधेयक उत्तराखंड और कश्मीर में भी लाने की कवायद की जाए, नहीं तो खुले बाजार में उनके साथ प्रतिस्पर्धा नहीं कर पाएंगे। इसके अलावा और भी कई समस्याएं आ सकती हैं। इस सबके मद्देनजर बागवानों का सुझाव है कि सभी बागवान संगठनों से सरकार को बातचीत करनी चाहिए। इसके बाद प्रस्तावित विधेयक का एक खाका ड्राफ्ट तैयार किया जाए।


हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है