Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

Theog-Kumarsain में Ticket के लिए दावेदारों ने लगाई सर-धड़ की बाजी

Theog-Kumarsain में Ticket के लिए दावेदारों ने लगाई सर-धड़ की बाजी

- Advertisement -

संदीपनी, डॉ. लोकेंद्र और अजय श्याम भी शामिल है टिकट के दावेदारों में

लोकिन्दर बेक्टा/शिमला। जिला के ठियोग-कुमारसेन विधानसभा हलके में बीजेपी में टिकट के लिए दावेदारों ने सर-धड़ की बाजी लगा ली है। टिकट के प्रबल दावेदार पूर्व विधायक राकेश वर्मा को हलके में बाहरी बताकर विरोध किया जा रहा है और कार्यकर्ताओं की दलील है कि जिसे भी उम्मीदवार बनाना है वह ठियोग-कुमारसेन हलके से होना चाहिए। इससे इस हलके में टिकट की जंग रोचक हो गई है। वहीं पार्टी ने हलके में सर्वे करवाया है और इसमें कौन कहां है, इसकी कोई जानकारी किसी को नहीं है और इससे हलके में भी अभी तक असमंजस बना है और इससे टिकट के दावेदारों की धड़कनें तेज हैं। तीन बार के विधायक राकेश वर्मा की राह में टिकट की दौड़ को सक्रिय हुए युवा नेता रोड़ा बने हैं।
ऐसे दावेदारों ने बंद कमरे में बैठक भी की है और वर्मा का विरोध किया है।  पिछले दिनों ठियोग में की गई बैठक में इन दावेदारों ने राकेश वर्मा की दावेदारी का विरोध किया और इस स्थिति से उन्होंने पार्टी के उच्च स्तर पर भी बता दिया है। ऐसे में ठियोग-कुमारसेन सीट से बीजेपी किसे प्रत्याशी उतारेगी, इसे लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। इस हलके में राकेश वर्मा के साथ-साथ संदीपनी भारद्वाज, डॉ. लोकेंद्र शर्मा, अजय श्याम और नरेश कुमार टिकट के लिए जोर आजमाइश लगाए हुए हैं। इनमें से राकेश वर्मा का अपना गृह क्षेत्र चौपाल विधानसभा हलके में चला गया है। इसी को आधार बनाकर टिकट के बाकी दावेदार उनका पत्ता काटने में जुटे हैं। उनकी दलील है कि राकेश वर्मा का गांव जिस हलके में गया है, उन्हें वहीं से उम्म्दीवार बनाया जाए।

जंग तेज होने पर संघ कर सकता है हस्तक्षेप

उधर, टिकट के अन्य दावेदारों में संदीपनी भारद्वाज और डॉ लोकेंद्र शर्मा कुमारसेन से ताल्लुक रखते हैं, जबकि अजय श्याम और नरेश ठियोग से संबंध रखते हैं। इन सभी का संघ से भी ताल्लुक है और टिकट के लिए जंग तेज होने पर संघ भी इसमें हस्तक्षेप कर सकता है। संदीपनी भारद्वाज, अजय श्याम संगठन में पुराने हैं, जबकि डॉ. लोकेंद्र शर्मा आर्थो सर्जन हैं और हाल में नौकरी छोड़कर राजनीति में कूदे हैं। उनका संघ से पुराना नाता है और सामाजिक कार्यों में काफी आगे रहे हैं। उन्होंने पूरे हलके में दस्तक देकर लोगों से संवाद कायम किया है और बड़ा तबका साथ जोड़ा है। वहीं, श्याम जिला महासू के अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल रहे है और वे भी उस स्तर पर सक्रिय हैं।
वहीं, राकेश वर्मा मंझे हुए राजनेता हैं और तीन बार विधायक रहे हैं। उनकी पत्नी भी राजनीति में सक्रिय है और वे ठियोग हलके के तहत आने वाले देवरीघाट जिला परिषद वार्ड से सदस्य हैं। इस नाते वे भी हलके में पूरी तरह सक्रिय है। वहीं, उनका गांव चौपाल हलके में होने के बावजूद उनकी राजनीतिक कर्मभूमि ठियोग ही रही है और पिछली बार वे यहीं से चुनाव लड़े थे और कांग्रेस की विद्या स्टोक्स से हार गए थे। इस बार ठियोग में बीजेपी में टिकट के लिए दावेदार पूरी तरह से सक्रिय हैं और क्षेत्रवाद के नारे के साथ खुद को सशक्त बता रहे हैं। ऐसे में इस हलके में टिकट के लिए खूब मारामारी हो रही है। 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है