फिन्ना परियोजनाः इंतजार करते रहे कामगार, नहीं पहुंचे जीएम

नूरपुर में बैठे रहे कंपनी के बड़े लोग, अतिरिक्त मुख्य सचिव से गुहार भी काम न आई

फिन्ना परियोजनाः इंतजार करते रहे कामगार, नहीं पहुंचे जीएम

- Advertisement -

चुवाड़ी। बकाया अदायगी के लिए संघर्षरत मजदूर इंतजार करते रहे और कंपनी के जीएम साइट पर नहीं पहुंचे। कामगारों ने शनिवार से परियोजना का काम पूरी तरह ठप करने का ऐलान कर दिया है। इससे पहले शुक्रवार को कामगारों के 4-5 प्रतिनिधियों को नूरपुर में बात करने का न्यौता दिया गया। वहीं कामगारों का कहना था कि वो साइट के अलावा किसी दूसरी जगह नहीं जाएंगे।
विभागीय सूत्रों की मानें तो कंपनी के नुमाइंदे इस मौके पर नूरपुर में थे। कंपनी का अल्टीमेटम के बावजूद साइट पर जाकर अदायगी न करना कुछ और ही कहानी गढ़ता है। लिहाज़ा अब गुस्साए कामगार आज से परियोजना का काम ठप कर देंगे। पूरे प्रकरण में न तो सिंचाई विभाग के अधिकारी कुछ कर पाए और न ही प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव का दिलासा काम आया। फिन्ना परियोजना की साइट पर सुबह से हड़ताली कामगार जुटने लगे थे। हड़ताल स्थगित कर  इंतज़ार कर रहे स्थानीय कामगारों के साथ-साथ महत्वाकांक्षी सिंचाई परियोजना के लिए शुक्रवार का दिन निर्णायक था। बता दें कि भट्टियात विधानसभा क्षेत्र की आदर्श पंचायत परछोड़ में बन रही फिन्ना सिंह सिंचाई परियोजना के स्थानीय कामगार पिछले 2 सप्ताह से काम ठप किए हुए हैं। हालांकि पहले सिंचाई विभाग की सॉइल टैस्टिंग को काम करने की छूट देने के बाद सिंचाई विभाग के आश्वासन के बाद हड़ताल स्थगित की गई है। वहीं आज बकाया अदायगी पर फैसले के साथ ही परियोजना कार्य पर फैसला होना था। वहीं, धर्मशाला में विधानसभा सत्र शुरू होने से एक दिन पहले प्रदेश सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनिल खाची के परियोजना दौरे के दौरान उच्चाधिकारी के आश्वासन से भी कामगारों की आस पक्की हुई थी। इस बीच हड़ताली कामगारों को युवक मंडल के अलावा स्थानीय महिलाओं का भी समर्थन मिलने लगा है। लोगों में परियोजना को लेकर रोष कोई नया नहीं है। जमीन अधिग्रहण के बाद कभी डंपिंग साइट तो कभी राजनीतिक दखल के चलते परछोड़ वासी इस परियोजना से खासे नाराज हैं। वहीं, कामगारों की बकाया अदायगी को लेकर चल रहे गतिरोध के बीच अंसतुष्ट लोग एकजुट होने लगे हैं।
बकाया अदायगी न होने से जहां इस करोड़ों के बजट की परियोजना का काम थम जाएगा तो वहीं पहले ही देर से बन रही परियोजना और लटक सकती है।  बता दें कि परछोड़ में बन रही इस परियोजना से कांगड़ा क्षेत्र के 70 के करीब गांवों की भूमि सिंचित हो पाएगी। एक्सईएन जीवन प्रकाश ने कहा कि कंपनी के लोगों के बुलाने पर कामगारों के न जाने से देरी हुई है। उन्होंने कहा कि जल्द ही अदायगी करवा दी जाएगी। इस संदर्भ में हड़ताली कामगार संजय तथा दिलप्रीत ने बताया कि बकाया न मिलने तक संघर्ष जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि शनिवार से परियोजना का काम ठप कर दिया जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है