Covid-19 Update

1,64,355
मामले (हिमाचल)
1,28,982
मरीज ठीक हुए
2432
मौत
25,227,970
मामले (भारत)
164,275,753
मामले (दुनिया)
×

Geo taging में कांगड़ा देशभर में First

Geo taging में कांगड़ा देशभर में First

- Advertisement -

धर्मशाला। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत किए गए कार्यों को जल्द ही सेटेलाइट के माध्यम से कहीं से भी देखा जा सकेगा। इसके लिए भारत सरकार ने ज्योग्राफिकल आइडेंटिफिकेशन मेटाडाटा यानि geo taging योजना शुरू की थी। इस योजना के निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने में जिला कांगड़ा पूरे देश में अव्वल है। जल्द ही जिला कांगड़ा प्रदेश का मान बढ़ाते हुए पूरे देश में इस योजना में पहला स्थान हासिल करेगा।


  • वर्ष 2005 से सभी मनरेगा कार्य ऑनलाइन करने का मामला
  • सभी राज्यों को पछाड़कर रिकॉर्ड समय में जिला पूरा करेगा काम

geo taging के तहत वर्ष 2005 से मनरेगा के तहत किए गए विभिन्न विकास कार्यों को ऑनलाइन किया जाना था, ताकि उनकी पूरी जानकारी कोई भी व्यक्ति कहीं से भी बैठकर हासिल कर सके। उस कार्य की स्वीकृति से लेकर बजट और मजदूरों के कार्य दिवस सहित तमाम जानकारी भी ऑनलाइन उपलब्ध करवाई जानी प्रस्तावित है। geo-tagging जिला ग्रामीण विकास अभिकरण (डीआरडीए) कांगड़ा के उपनिदेशक एवं परियोजना अधिकारी मुनीष कुमार शर्मा ने इस बारे में बताया कि भारत सरकार की इस योजना से मनरेगा कार्यों से जुड़ी कई शिकायतों का निवारण होगा। मनरेगा के तहत हुए कार्यों की वस्तुस्थिति भी सबके सामने होगी और किसी तरह की धांधली की गुंजाइश भी इसके बाद नहीं रहेगी। उन्होंने बताया कि यह बहुत हर्ष का विषय है कि जिला कांगड़ा प्रदेश ही नहीं अपितु पूरे देश में इस कार्य में सबसे आगे है। मुनीष कुमार शर्मा ने बताया कि देश में यह योजना अप्रैल 2016 में शुरू हुई थी, लेकिन किसी कारणवश जिला कांगड़ा में इसे नवंबर 2016 में शुरू किया गया। ऐसे में मार्च 2017 तक इस कार्य को पूर्ण करना अपने आप में एक बहुत बड़ी चुनौती थी। जिला भर के अधिकारियों और कर्मचारियों ने तत्परता दिखाते हुए रिकॉर्ड समय में यह कार्य पूरा करने की दिशा में काम किया और उसी का नतीजा है कि आज जिला कांगड़ा पूरे देश में आगे है।


उन्होंने बताया कि जिला के 15 विकास खंडों में से दस विकास खंडों में geo taging का कार्य शत प्रतिशत पूरा हो चुका है, जबकि शेष 5 विकास खंडों में भी यह कार्य 90 फीसदी तक पूरा हो चुका है। शेष कार्य भी जनवरी माह के अंत तक पूरा करके रिपोर्ट केंद्र को भेज दी जाएगी। उन्होंने बताया कि जिला कांगड़ा में भी पंचरुखी विकास खंड में geo taging का कार्य सबसे पहले पूरा किया गया है। मुनीष शर्मा ने कहा कि पूरे देश में किसी कार्य में जिला कांगड़ा का पहले स्थान पर आना प्रदेश के लिए भी गर्व की बात है। उन्होंने इस मुकाम तक जिला को पहुंचाने के लिए संबंधित कर्मचारियों को बधाई दी है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है