Covid-19 Update

1,61,072
मामले (हिमाचल)
1,24,434
मरीज ठीक हुए
2348
मौत
24,965,463
मामले (भारत)
163,750,604
मामले (दुनिया)
×

कोरोना राहत की राज्यों को पहली किस्त जारी,फ्रंटलाइन वर्कर्स की Insurance Cover अवधि बढ़ी

50 प्रतिशत राशि का उपयोग राज्य कोविड-19 रोकथाम उपायों के लिए कर सकेंगे

कोरोना राहत की राज्यों को पहली किस्त जारी,फ्रंटलाइन वर्कर्स की Insurance Cover अवधि बढ़ी

- Advertisement -

कोरोना संकट के बीच केंद्र की तरफ से वर्ष 2021-22 के लिए राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष (SDRF) के केंद्रीय हिस्से की (First installment) पहली किस्त 8873.6 करोड़ रुपए जारी की गई है। वित्त मंत्रालय ने कहा कि जारी की गई राशि का 50 प्रतिशत तक यानी 4436.8 करोड़ रुपए का उपयोग राज्यों द्वारा कोविड-19 रोकथाम उपायों के लिए किया जा सकता है। सामान्य दिनों में एनडीआरएफ की पहली किस्त वित्त आयोग की सिफारिशों के अनुसार जून माह में जारी की जाती है। लेकिन इस मर्तबा सामान्य प्रक्रिया में ढील देते हुए ये किस्त जारी की गई है।


यह भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच 80 करोड़ लोगों को दो माह का राशन मुफ्त देगी केंद्र सरकार

एनडीआरएफ से प्राप्त धनराशि का उपयोग राज्यों द्वारा कोरोना से संबंधित विभिन्न उपायों के लिए किया जा सकता है। इसी बीच केंद्र सरकार ने कोरोना संकट के बीच फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स (Frontline Health Workers) को बड़ी राहत दी है। इनके लिए विशेष रूप से शुरू की गई बीमा योजना को छह महीने के लिए बढ़ा (insurance cover) दिया गया है। केंद्र सरकार ने कोविड.19 महामारी से निपटने में लगाए गए फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स के लिए मार्च 2020 में इस योजना की शुरुआत की थी, जिसके तहत हेल्थ वर्कर्स की मौत होने पर उनके परिजनों को 50 लाख रुपए तक का बीमा कवर मिलता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है