Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,612,794
मामले (भारत)
198,030,137
मामले (दुनिया)
×

NAAC की मान्यता को बनेगी विभागीय टीम, यूनिवर्सिटी और कॉलेज का करेगी दौरा

NAAC की मान्यता को बनेगी विभागीय टीम, यूनिवर्सिटी और कॉलेज का करेगी दौरा

- Advertisement -

शिमला। राष्ट्रीय मूल्यांकन और प्रत्यायन परिषद (NAAC) की मान्यता प्राप्त करने के लिए विभागीय टीम का चयन किया जाएगा, जो हर कॉलेज और विश्वविद्यालय में दो माह पूर्व जाकर उसको सुधार कार्यों के बारे में सूचित करेगी, ताकि उस संस्थान की एनएएसी (NAAC) की उचित मान्यता प्राप्त हो सके। इसके साथ-साथ उच्च शिक्षण संस्थानों का शीघ्र एनएएसी करवाया जाए, ताकि शिक्षण संस्थानों को बेहतर किया जा सके। यह निर्णय हिमाचल प्रदेश राज्य उच्च शिक्षा परिषद की प्रथम बैठक में लिया गया। बैठक में शिक्षा, विधि एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। बैठक में प्रदेश के प्रत्येक जिला से 12 कॉलेजों को एनएएसी सूची में A+ ग्रेड में पहुंचाने के लक्ष्य पर चर्चा की गई तथा परिषद द्वारा निर्णय लिया गया कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय को एक प्रस्ताव तैयार कर के भेजा जाएगा, ताकि नॉन एनएएसी मान्यता प्राप्त कॉलेज को भी रूसा के तहत पूंजी का प्रावधान हो सके।

यह भी पढ़ें: हिमाचल कर्मचारी चयन आयोग ने घोषित किया यह रिजल्ट, यह हुए सफल

शिक्षा, विधि एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में उच्च शिक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2018 में विधानसभा में अधिनियम पारित कर संवैधानिक परिषद का निर्माण किया, ताकि उच्च शिक्षा में उच्चतर गुणवत्ता और रोजगारयुक्त शिक्षा का निर्माण संभव हो सके।



उन्होंने बताया कि यूजीसी एवं केंद्र सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में जारी किए गए अनुदान का विश्लेषण प्रदेश परिषद द्वारा किया जाएगा, जिसके पश्चात उस अनुदान का उपयोग परिषद की राय से शिक्षा के अलग-अलग क्षेत्रों में प्रयोग किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि रूसा के अंतर्गत मिल रहे अनुदान के परिचालन एवं प्रबंधन करने का कार्य भी परिषद का है। उन्होंने बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई नीतियों का परिषद द्वारा विचार-विर्मश करने के पश्चात् प्रदेश में लागू किया जाएगा। उन्होंने परिषद के सदस्यों को बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में हर पहलु पर चर्चा करें, ताकि बेहतर शिक्षा प्रणाली का निर्माण हो सके। उन्होंने बताया कि प्रदेश के छात्रों को रोजगार पर आधारित शिक्षा प्राप्त हो सके, इसी उद्देश्य से परिषद को संवैधानिक बनाया गया है। इस अवसर पर परिषद द्वारा विभिन्न महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की गई।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Chennel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है