×

देश में पहली बार कालका-शिमला हेरिटेज ट्रैक पर दौड़ी विस्टाडोम कोच

देश में पहली बार कालका-शिमला हेरिटेज ट्रैक पर दौड़ी विस्टाडोम कोच

- Advertisement -

लेखराज धरटा/ शिमला। कालका-शिमला हेरिटेज ट्रैक पर रोमांच भरे सफर की शुरूआत हो गई है। देश में पहली बार कालका-शिमला हेरिटेज ट्रैक पर पारदर्शी विस्टाडोम कोच मंगलवार से रोजाना दौड़नी शुरू हो गई। आज पहले दिन पारदर्शी कोच में 18 पर्यटकों ने शिमला-कालका ट्रैक की हसीन वादियों का दीदार किया। पर्यटकों के अनुसार सफर तो काफी रोमांच भरा था, लेकिन शौचालय न होने के चलते परेशानी उठानी पड़ी। पर्यटकों ने मांग की है कि कोच में टॉयलेट की सुविधा मुहैया करवाई जाए।
शिमला रेलवे स्टेशन के स्टेशन अधीक्षक प्रिंस सेठी ने बताया कि भारतीय रेलवे ने 11 दिसंबर से शिमला-कालका मार्ग पर नियमित आधार पर विस्टाडोम कोच चलाने का फैसला किया है। इसमें पर्यटकों को महज 130 रुपए का किराया देकर हसीन वादियों को देखने का मौका मिलेगा, जबकि 5 साल से अधिक उम्र के बच्चों के लिए 75 रुपए किराया रखा गया है। इसके अलावा पांच साल से कम आयु वाले बच्चों का किराया नहीं लगेगा। कोच में 36 लोग एक साथ सफर कर सकते हैं। लोग जल्द ही ऑनलाइन बुकिंग के माध्यम से भी लोग टिकट बुक कर सकेंगे। रेलवे विभाग इसके लिए काम कर रहा है।

कोच में टॉयलेट न होने से थोड़े खफा दिखे यात्री


पारदर्शी कोच में सफर कर शिमला पहुंचे पर्यटकों ने बताया कि सफर बेहद ही रोचक था। कालका-शिमला ट्रैक पर खूबसूरत वादियों को करीब से देखने का उनको पहली बार मौका मिला है। पर्यटकों ने कालका से शिमला के बीच के सफर में खूबसूरत वादियों को 360 डिग्री दृश्य को बहुत करीब से देखा। हालांकि कोच में शौचालय की व्यवस्था न होने से सैलानियों को थोड़ी परेशानी भी उठानी पड़ी। पर्यटकों ने रेलवे विभाग से कोच में टॉयलेट की सुविधा देने की मांग भी की है। गौरतलब है कि डोम कोच के साथ ट्रेन का ट्रायल 11 नवंबर को हुआ था।
इस विशेष कोच को तैयार करने के लिए रेल मंत्री पीयूष गोयल ने हिमाचल दौरे के समय विभाग को निर्देश दिए थे। कोच पूरी तरह शीशे और लकड़ी से तैयार किया गया है। बड़ी खिड़कियों और शीशे की छत से चारों ओर का नजारा सीट पर बैठे ही देखा जा सकता। कोच की छत 12 एमएम शीशे की बनाई गई है। दरवाजों और खिड़कियों पर कठोर शीशे का इस्तेमाल किया गया है। देश में पहली बार विस्टाडोम कोच कालका-शिमला ट्रैक पर चलाया गया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है