Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

पौंग झील में मछली पकड़ने पर लगी रोक हटी, DC Kangra ने जारी किए आदेश

मछुआरों को कोविड प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

पौंग झील में मछली पकड़ने पर लगी रोक हटी, DC Kangra ने जारी किए आदेश

- Advertisement -

धर्मशाला। पौंग झील (Pong Dam) में अब मछुआरे मछली पकड़ सकेंगे। मछली पकड़ने पर लगाई रोक को डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति (DC Kangra Rakesh Prajapati) ने हटा दिया है। इस बारे आज आदेश जारी कर दिए हैं। उन्होंने पौंग झील में मत्स्य गतिविधियों को दोबार शुरू करने के आदेश जारी किए हैं। लेकिन, इसके लिए कोविड प्रोटोकॉल (Covid Protocol) और केंद्र व राज्य सरकार द्वारा जारी एसओपी (SOP) का कड़ाई से पालन करना होगा।

यह भी पढ़ें: अब घर पर ही चकरा जाएगा सिर-सरकार ने शराब की होम डिलीवरी को दी मंजूरी

बता दें कि कोरोना के पंजाब आदि में लॉकडाउन (Lockdown) लगने के चलते पौंग झील की मछली मार्केंट तक नहीं पहुंच पा रही थी, जिससे ठेकेदारों को नुकसान हो रहा था। इसी के चलते मछली व्यवसाय से जुड़े कुछ लोगों व यूनियनों ने प्रशासन से मछली आखेट पर रोक लगाने की मांग की थी। लोगों की मांग को देखते हुए डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति ने आदेश जारी कर रोक लगा दी। अब इन आदेशों को वापस लेकर मत्स्य गतिविधियों को फिर से शुरू करने के आदेश जारी किए हैं।
गौरतलब है कि पौंग झील में कई मछुआरे मछली पकड़कर अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। पर पहले कोरोना के चलते और फिर बर्ड फ्लू ने मछुआरे की रोजी रोटी पर लात मारी। बर्ड फ्लू के चलते भी कई दिन तक झील बंद रही थी। बर्ड फ्लू (Bird Flu) के मामले कम होने के बाद पौंग झील में मछली पकड़ने का कार्य फिर शुरू हुआ और मछुआरों को उम्मीद जगी। लेकिन, फिर कोरोना के चलते झील में मत्स्य आखेट बंद करना पड़ा। वहीं, अगर झील 15 जून को बंद होती है तो मछुआरों को 15 दिन ही मछली पकड़ने के लिए मिलेंगे। क्योंकि झील में मछली का बीज डालने के लिए झील दो माह तक बंद रहती है। इस दौरान मत्स्य आखेट पर पूरी तरह से रोक रहती है।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है