Covid-19 Update

2,06,832
मामले (हिमाचल)
2,01,773
मरीज ठीक हुए
3,511
मौत
31,810,427
मामले (भारत)
200,650,253
मामले (दुनिया)
×

Assam में बाढ़ का कहर : अब तक 12 लोगों की मौत, CRPF Headquarter में घुसा पानी

Assam में बाढ़ का कहर : अब तक 12 लोगों की मौत, CRPF Headquarter में घुसा पानी

- Advertisement -

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच अब एक और मुसीबत ने देश में एंट्री ले ली है। असम में बाढ़ ने कहर बरपाया है जिसकी वजह से हजारों की संख्या में लोग सड़क पर आने को मजबूर हो गए हैं। करीब एक हफ्ते से लगातार हो रही भारी बारिश (Heavy rain) के कारण यहां स्थिति काफी गंभीर बनी हुई है और अब तक 38,000 लोग इससे प्रभावित हुए हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की प्रतिदिन की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में बाढ़ में एक और व्यक्ति की मौत हो गई है जिसके साथ ही कुल मृतकों की संख्या बढ़ कर 12 हो गई है। डिब्रूगढ़ में सीआरपीएफ के हेडक्वार्टर (CRPF Headquarter) में भी बाढ़ का पानी घुस गया है जिसकी वजह से जवानों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यहां जवानों के बेड रूम तक पानी पहुंच गया है।

 


 

ब्रह्मपुत्र नदी का पानी खतरे के निशान से सिर्फ एक मीटर नीचे

असम के अलग-अलग हिस्सों में लगातार हो रही बारिश से प्रमुख नदियों का जलस्तर बढ़ गया है और वह उफान पर हैं। गुवाहाटी में ब्रह्मपुत्र नदी (Brahmaputra River) का पानी खतरे के निशान से सिर्फ एक मीटर नीचे है। हालांकि नदी का जलस्तर तेजी से ऊपर की ओर बढ़ रहा है। केंद्रीय जल आयोग के अधिकारी साजिदुल हक ने बताया, ‘ब्रह्मपुत्र नदी के पानी का स्तर खतरे के निशान के करीब पहुंच गया है और इसके और बढ़ने की संभावना है। वर्तमान में पानी का स्तर खतरे के निशान से 1 मीटर नीचे है।’ असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने यहां बताया कि पिछले 24 घंटे में बाढ़ से शिवसागर जिले में एक व्यक्ति की मौत हुई है।

100 से ज्यादा गांवों में पानी गया घुस

बाढ़ के कारण असम के 100 से ज्यादा गांवों में पानी घुस गया है जिसकी वजह से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बाढ़ के कारण फसल भी चौपट हो गई है। यहां करीब 5,031 हेक्टेयर भूमि की फसल बर्बाद हो चुकी है। एक तरफ कोरोना का संकट और उसमें बाढ़ से तबाही के बीच असम सरकार ने कई राहत शिविरों की व्यवस्था की है। असम में सरकारी की तरफ से 27 रिलीफ कैंप और डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर की व्यवस्था की गई है जहां से लोगों को मदद पहुंचाई जा रही है। हजार से ज्यादा की संख्या में लोगों ने इन शिविरों में शरण ली है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है