Expand

अगर जिंदगी को रचनात्मक बनाना है तो उत्तर की तरफ सिर करके सोएं

भले ही कम सोएं पर ध्यान रखें फेंग शुई की दिशा का

अगर जिंदगी को रचनात्मक बनाना है तो उत्तर की तरफ सिर करके सोएं

- Advertisement -

मंत्रा डेस्क। दुनिया में ऐसे भी शख्स हैं, जो अपनी रचनात्मकता सुधारने के लिए उत्तर दिशा की ओर सिर करके सोते थे। उन्होंने उत्तर में बैठ कर लिखा भी और माना कि इस दिशा में सोने और लिखने से उनकी रचनात्मकता बढ़ी है। वैसे जो लोग फेंग शुई के बारे में जानते हैं उन्हें पता होगा की यह दिशा कितनी सही है।

तो जानिए इन नामी शख्सियतों के बारे में।

निकोला टेस्ला

रात में सिर्फ दो से तीन घंटे सोने वाले टेस्ला का कहना है कि काम सोने की वजह से वो ज्यादा काम कर सके। एक बार तो टेस्ला ने बिना किसी आराम या नींद के प्रयोगशाला में 84 घंटे लगातार काम किया था। वे कहते रहे हैं कि जब आपको किसी काम की धुन लग जाती है तो आप दोस्त, खाना, पीना, नींद सब भूल जाते हैं, किसी अविष्कार के रोमांच के सामने ये चीज़े नगण्य हैं।

मारिसा मेयर

याहू के सीईओ के मुताबिक, वह ज्यादा सोती नहीं है। वह बहुत व्यस्त रहती हैं और कभी-कभी तो सप्ताह में 130 घंटे तक काम करती हैं। नींद की कमी को वे चार महीने में एक बार हफ्तेभर की छुट्टी लेकर पूरी कर लेती हैं। हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि नींद पूरी इस तरीके से नहीं की जा सकती।

लियोनार्डो दा विन्ची

दा विंची तो टेस्ला से भी दो कदम आगे थे। वे हर चार घंटे में 20 मिनट की झपकी ले लेते थे। दा विन्ची एक कलाकार/अविष्कारक/वैज्ञानिक थे और उन्हें समय की वैसे भी बहुत जरूरत थी जो उन्होंने इस तरीके से पूरी की।

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम

भारत के पूर्व राष्ट्रपति कलाम अपने जीवन काल में कभी भी चार घंटे से ज्यादा की नींद नहीं लेते थे। जल्दी सोने और जल्दी उठने पर विश्वास करने वाले ये महान वैज्ञानिक शायद इसलिए इतनी उपलब्धियां हासिल कर सके।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है