- Advertisement -

800 मीटर का जंगल उजड़ने के बाद एक्शन में वन मंत्री, बोले- रिपोर्ट मंगवाएंगे

जवाली उपमंडल का मामला, वन विभाग की रिपोर्ट में आरोपी का नाम नहीं

0

- Advertisement -

रविन्द्र चौधरी/जवाली। जवाली उपमंडल के अंतर्गत पंचायत पलौहड़ा के अधीन मनसा माता मंदिर के पास कुछ लोगों ने बिना परमिशन के जेसीबी लगाकर करीबन 800 मीटर जंगल को उखाड़कर रास्ता बना लिया। अब इस मामले में वन विभाग और पुलिस दोनों अंधेरे में तीर चला रहे हैं। जंगल किसने उखाड़ा किसी को नहीं मालूम। वन मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा है कि इस बारे में जल्द ही विभागीय अधिकारियों से रिपोर्ट मंगवाई जाएगी।

इस घटना के 48 घंटे बीतने के बाद भी पुलिस और वन विभाग के हाथ खाली हैं। वन विभाग के ACF संदीप कोहली का कहना है कि पुलिस को इस मामले में एक्शन लेना है। थाना जवाली के एसएचओ नीरज राणा ने बताया कि वन विभाग ने जंगल उखाडने की जो सूचना दी है, उसमें किसी आरोपी का नाम नहीं है। वन मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा कि वन माफिया को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि दोषियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

वन विभाग पर मिलीभगत का आरोप

कुछे लोगों ने जेसीबी लगाकर करीबन 800 मीटर जंगल को उखाड़ा है। कई भारी-भरकम पेड़ों की भी बलि चढ़ाई गई है। उखाड़े गए पेड़ों की ठूंठों को जड़ों सहित कहीं छिपा दिया गया है। रास्ते की खुदाई भी करीबन 5 से 6 फुट तक की गई है। पूर्व पंचायत प्रधान सुरिन्द्र छिंदा का कहना है कि निजी जेसीबी लगाकर रास्ता निकालने की इतनी हिम्मत वन विभाग की मिलीभगत के बिना कोई नहीं कर सकता। लोगों ने वन मंत्री गोविंद ठाकुर सहित वन विभाग से मांग की है कि मामले की छानबीन करके उचित कार्रवाई की जाए। आरओ जवाली ज्ञान चन्द ने कहा कि रास्ता बनाने के लिए विभाग से अनुमति नहीं ली गई है। उन्होंने कहा कि विभाग ने लोगों के बयान लिए हैं। जल्द ही जेसीबी मालिक सहित अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी।

- Advertisement -

Leave A Reply