Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

सुप्रीम कोर्ट ने Anurag Thakur को नहीं दी माफी, पड़ सकता है भारी!

सुप्रीम कोर्ट ने Anurag Thakur को नहीं दी माफी,  पड़ सकता है भारी!

- Advertisement -

नई दिल्ली।  बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए और फिर से बिना शर्त माफी मांगीए लेकिन कोर्ट ने अभी माफी नहीं दी है। कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई 17 अप्रैल मुकर्रर की है। अनुराग ने इससे पहले सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर कहा था कि अगर  कोर्ट को लगता है कि उन्होंने आदेशों में बाधा पहुंचाने की कोशिश की तो वो बिना शर्त मांगी मांगते हैं। कोर्ट के आदेशों को क्षीण करने का कभी उनका उद्देश्य नहीं रहा है। वह सुप्रीम कोर्ट के प्रति उच्च सम्मान रखते हैं। उन्होंने ना तो कोई झूठा हलफनामा दाखिल किया और ना ही वो किसी तरह से कोर्ट के आदेशों में दखल देना चाहते थे।


  • 17 अप्रैल को होगी अगली सुनवाई 
  • लोढा कमेटी की सिफारिशों को लागू न करने नपे

उन्होंने सिर्फ ICC के चेयमैन शशांक मनोहर से दुबई में इस मुद्दे पर सिर्फ उनका पक्ष पूछा था, क्योंकि BCCI का चेयरमैन रहते वक्त उनकी यही राय थी। सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल करने से पहले 2015 में केपटाउन में शशांक मनोहर ने खुद जवाब का ड्राफ्ट कराया था और कहा था कि इस जवाब में कोई दिक्कत नहीं है। दरअसल 2 जनवरी को लोढा समिति की सिफारिशों को लागू करने को लेकर अड़ियल रुख अपनाए बीसीसीआई के खिलाफ तीखे तेवर अपनाते हुए कोर्ट ने ठाकुर को पद से हटाने के साथ साथ कारण बताओ नोटिस भी जारी किया था ।

उनसे पूछा गया है कि उनके खिलाफ अदालत की अवमानना का मामला क्यों न चलाया जाए? सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अगर आरोप साबित हुए तो ठाकुर को जेल भी जाना पड़ सकता है। अनुराग ठाकुर पर आरोप था कि उन्होंने आईसीसी के अध्यक्ष शशांक मनोहर को कहा था कि वह (आईसीसी) ऐसा पत्र जारी करें जिसमें यह लिखा हो कि अगर लोढा पैनल को इजाजत दी जाती है तो इससे बोर्ड के काम में सरकारी दखलअंदाजी माना जाएगा और BCCI की सदस्यता रद्द भी हो सकती है। हालांकि ठाकुर ने इस आरोप से इनकार किया था।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है