Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

Virbhadra की Jai Ram को सलाहः सूखे व बढ़ती महंगाई से निपटने की ओर दें ध्यान, न कि…

Virbhadra की Jai Ram को सलाहः सूखे व बढ़ती महंगाई से निपटने की ओर दें ध्यान, न कि…

- Advertisement -

शिमला। पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह ने सीएम जयराम ठाकुर को सलाह दी है कि उन्हें प्रदेश में सूखे की स्थिति, बढ़ती महंगाई से निपटने और अन्य ज्वलंत समस्याओं की ओर ध्यान देना चाहिए। न कि पूर्व सरकार के किए गए जनहित के कार्यों को बंद करने की तरफ। यह बात वीरभद्र सिंह ने जयराम ठाकुर के उस बयान के पलटवार में कही है, जिसमें सीएम ने कहा था कि पूर्व सीएम ने एक लाख के बजट में कॉलेज खोल दिए हैं।

वीरभद्र सिंह ने कहा है कि या तो उन्हें इस बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं है या फिर बजट प्रावधानों की ज्ञान नहीं है। वीरभद्र सिंह ने कहा कि प्रदेश में एक लाख बजट प्रावधान में कोई भी कॉलेज नहीं खोला है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने प्रदेश में जितने भी कॉलेज, स्कूल खोले उनके लिए समुचित बजट प्रावधान किया गया है। कॉलेज खोलने की घोषणा के साथ ही पांच करोड़ की राशि तुरंत संबंधित विभाग को जारी की जाती थी, जबकि शेष निर्माण में आवश्कतानुसार दी जाती है। उन्होंने कहा कि  सिराज जहां लंबाथाच व थाची में कॉलेज खोले गए हैं। इन कॉलेजों, स्कूलों का मुख्यतः लड़कियों को फायदा हुआ है। वीरभद्र सिंह ने कहा है कि सीएम जयराम ठाकुर अति उत्साह में उनके खिलाफ झूठी बयानबाजी कर रहे हैं। प्रदेश में उनकी सरकार द्वारा जितने भी संस्थान खोले गए हैं, उन्हें समुचित बजट प्रावधान किया गया है। यह अलग है कि वर्तमान सरकार इन सस्थानों के बजट में कटौती करने की नीयत से कार्य कर रही है। 


वीरभद्र सिंह के बोल, सरकार में नौकरशाह हावी
पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह ने कहा है कि राज्य की नई सरकार पर नौकरशाही हावी हो गई है। उनका कहा है कि सरकार में तबादले होने चाहिए, लेकिन वे गुणदोष के आधार पर होने चाहिए। जो डिजर्व करता है, उसका तबादला किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि टोपी का रंग बदलकर कोई यदि कोई नई सरकार के पास जाए और कहा कि उसे पिछली सरकार ने उत्पीड़ित किया है और उस आधार पर तबादला किया जाए, तो यह गलत बात है। वीरभद्र सिंह ने कहा कि सरकार को तबादले करने चाहिए, लेकिन इससे पहले गुणदोष का आकलन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि लोग समझते हैं और उनमें धारणा है कि नई सरकार को कोई तुजुर्बा नहीं है। उनका कहना था कि यह भावना जनता के बीच नहीं जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार जो भी कदम उठाए, सोच समझ कर उठाए। 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है