×

Bali बोले, निजी ऑपरेटरों पर मेहरबान Govt, HRTC को बंद करने का रच रही षड्यंत्र

Bali बोले, निजी ऑपरेटरों पर मेहरबान Govt, HRTC को बंद करने का रच रही षड्यंत्र

- Advertisement -

कांगड़ा। Former Transport Minister GS Bali ने Jai Ram Govt पर HRTC को बंद करने का षड्यंत्र रचने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार एचआरटीसी का दिवाला निकालने में लगी हुई है। एचआरटीसी के रूट बंद किए जा रहे हैं और प्राइवेट बस ऑपरेटरों को नियमों में ताक पर रख परमिट दिए जा रहे हैं। यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली ने कहा कि निगम के कुछ अधिकारियों ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए बड़ी चतुराई से कुछ रूट परमिट पॉलिसी व एक्ट को ताक में रखकर दिए हैं। इन रूट परमिटों पर मंत्री के हस्ताक्षर हैं। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो पिछले चार माह में प्रदेश में 379 एचआरटीसी के रूट बंद किए हैं। दूसरी तरफ नियमों को ताक में रखकर प्राइवेट ऑपरेटरों को रूट परमिट दिए गए हैं। जब परिवहन कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों ने परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर से इस बारे में बात की तो उन्हें मंत्री का जवाब मिला कि उन पर अन्य मंत्रियों और विधायकों का बहुत प्रेशर है। 

बड़ी चालाकी से कांगड़ा के एक बस ऑपरेटर को जारी किए परमिट

जीएस बाली ने कांगड़ा जिला के एक बस ऑपरेटर को जारी रूट परमिट पर सवाल उठाते हुए कहा कि बड़ी चालाकी से यह रूट परमिट दिए गए हैं। चामुंडा से ढांगू रूट का परमिट में संशोधन कर चामुंडा से ढांगू वाया पठानकोट जारी किया है। ऐसे ही मनाली-ढांगू रूट पर भी वाया पठानकोट लिखकर जारी किया गया है। उन्होंने कहा कि इससे साफ पता चलता है कि यह निजी बस ऑपरेटर को फायदा पहुंचाने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि अभी तक स्टेट ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी गठित नहीं हुई है। ऐसे में परमिट कैसे जारी कर दिए। परिवहन मंत्री ने परमिटों पर साइन कैसे कर दिए। यह भी बड़ा सवाल है। उन्होंने सरकार से पूछा है कि एचआरटीसी को परमिट क्यों नहीं दिए जा रहे हैं। क्या अच्छे रूट प्राइवेट ऑपरेटरों को देने के बाद एचआरटीसी को परमिट जारी किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि एचआरटीसी को घाटे में धकेला जा रहा है। साथ ही उन्होंने मांग उठाई है कि निजी बस चालकों व परिचालकों का समय-समय पर मेडिकल हो और उन्हें सही प्रकार से सेलरी मिले।


 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है