×

Budget Session: 11 जिलों में करोड़ों डकार कर बैठे पूर्व पंचायत प्रतिनिधि, एक में पेश की मिसाल

अभी साढ़े चार करोड़ से अधिक देनदारी बकाया, लाहुल स्पीति में जीरो

Budget Session: 11 जिलों में करोड़ों डकार कर बैठे पूर्व पंचायत प्रतिनिधि, एक में पेश की मिसाल

- Advertisement -

शिमला। पूर्व पंचायत प्रतिनिधि (Former Panchayat Representatives) यानी पंचायत प्रधान, उपप्रधान और पंचायत सदस्य सरकार के करोड़ों रुपये पर कुंडली मारकर बैठे हैं। 28 फरवरी 2021 तक के आंकड़ों के अनुसार पूर्व पंचायत प्रतिनिधियों से करीब 4 लाख 54 लाख 65 हजार 081 रुपये की राशि वसूल करनी है। इसमें सिरमौर (Sirmaur) जिला नंबर वन पर है और शिमला (Shimla) जिला दूसरे नंबर नंबर पर है। सिरमौर जिला में 1 करोड़ 11 लाख 66 हजार 132 रुपये की राशि वसूल करनी है। वहीं शिमला जिला में एक करोड़ 04 लाख लाख 83 हजार 668 रुपये वसूल करने हैं। इसके अलावा हिमाचल का लाहुल स्पीति जिला एक ऐसा जिला है, जहां पर किसी प्रकार की देनदारी पूर्व पंचायत प्रतिनिधियों के सिर पर नहीं है। यह जानकारी आज हिमाचल विधानसभा (Himachal Vidhan Sabha) के बजट सत्र (Budget Session) में बीजेपी विधायक इंद्र सिंह के पूछे सवाल के जवाब में पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर ने दी है।


यह भी पढ़ें: Budget Session:सरकार की एसएमसी शिक्षकों को नियमित करने की कोई योजना नहीं

 

 

किस जिला में कितनी देनदारी, कितनी चूकता, कितनी शेष

पंचायत चुनाव (Panchayat Election) से पहले हिमाचल के 11 जिलों में 5 करोड़ 39 लाख 93 हजार 980 रुपये की राशि वसूल करनी थी। चुनाव से पहले 85 लाख 28 हजार 899 देय हुए हैं। करीब 4 लाख 54 लाख 65 हजार 081 रुपये की राशि वसूल करनी बाकी है। हिमाचल में पंचायत चुनाव से पहले सिरमौर जिला में 1 करोड़ 15 लाख 12 हजार 838 रुपये वसूल करने योग्य थे और 3 लाख 46 हजार 706 वसूल पाए गए हैं। साथ 1 करोड़ 11 लाख 66 हजार 132 वसूल करने हैं। शिमला जिला में एक करोड़ 09 लाख 56 हजार 320 रुपये की राशि वसूल करने थी। इसमें से 4 लाख 72 हजार 652 रुपये वसूल किए गए हैं। एक करोड़ 04 लाख 83 हजार 668 रुपये वसूल करने हैं। मंडी (Mandi) में एक करोड़ 13 लाख 89 हजार 080 रुपये वसूल करने थे और 27 लाख 32 हजार 369 वसूल किए गए हैं। 86 लाख 56 हजार 711 वसूल करने हैं। कांगड़ा जिला में 51 लाख 89 हजार 748 रुपये वसूल करने हैं। 15 लाख 90 हजार 500 रुपये वसूल किए गए हैं। 35 लाख 99 हजार 248 वसूल करने हैं। चंबा (Chamba) जिला में 35 लाख 90 हजार 593 रुपये वसूल करने थे और कोई राशि वसूल नहीं की गई है। किन्नौर जिला में 21 लाख 01 हजार 461 रुपये वसूल करने थे और 70 हजार 500 रुपये वसूल किए गए। 20 लाख 30 हजार 961 अभी बाकी हैं। ऊना (Una) में 31 लाख 42 हजार 500 रुपये की राशि वसूल करनी थी। इसमें से 13 लाख 87 हजार 745 रुपये वसूल किए गए हैं और 17 लाख 54 हजार 755 रुपये वसूल करने हैं।

यह भी पढ़ें: Budget Session:कर्ज लेने की लिमिट बढ़ाने पर सदन से विपक्ष का वॉकआउट

बिलासपुर (Bilaspur) में 15 लाख 64 हजार 476 वसूल करने थे और 2 लाख 11 हजार 803 वसूल किए गए हैं। 13 लाख 52 हजार 673 वसूलने बाकी हैं। कुल्लू (Kullu) जिला में 18 लाख 11 हजार 154 रुपये वसूल करने योग्य थे। इसमें से 6 लाख 11 हजार 516 वसूल किए गए हैं। 11 लाख 99 हजार 638 रुपये वसूल करने हैं। सोलन (Solan) जिला में 8 लाख 84 हजार 371 रुपये वसूल करने थे और कोई राशि वसूल नहीं की गई है। हमीरपुर जिला में 18 लाख 51 हजार 439 रुपये वसूल करने योग्य थे। इसमें से 11 लाख 05 हजार 108 वसूल किए गए हैं। सात लाख 46 हजार 331 रुपये की वसूली बाकी है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है