Covid-19 Update

2,05,391
मामले (हिमाचल)
2,01,014
मरीज ठीक हुए
3,503
मौत
31,484,605
मामले (भारत)
196,043,557
मामले (दुनिया)
×

हमीरपुर व पालमपुर में खुलेंगे FourLane परियोजना निदेशक कार्यालय

हमीरपुर व पालमपुर में खुलेंगे FourLane परियोजना निदेशक कार्यालय

- Advertisement -

Four Lane project : नई दिल्ली। मटौर-शिमला और चक्की-पालमपुर-मंडी फोरलेन परियोजना के काम में तेजी लाने को लेकर हमीरपुर व पालमपुर में परियोजना निदेशकों के कार्यालय खोले जाएंगे। यह निर्णय केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री एवं हिमाचल प्रदेश के लोकसभा सदस्यों के साथ एक समीक्षा बैठक में लिया गया। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जेपी नड्डा ने आज राज्य सरकार से आग्रह किया है कि अपने संसाधनों एवं काम की गति को तेज कर लें, ताकि प्रदेश में नई राष्ट्रीय राजमार्ग और चार लेन परियोजनाएं प्रगति कर सकें। जेपी नड्डा ने नई परियोजनाओं की धीमी प्रगति और सक्रिय मोदी सरकार के साथ तालमेल रखने के लिए मौजूदा व्यवस्था की विफलता पर चिंता व्यक्त की है।

 


नड्डा ने नई परियोजनाओं की धीमी प्रगति पर व्यक्त की चिंता 

जेपी नड्डा ने कहा कि भारत सरकार द्वारा सभी अथक परिश्रम और प्रयासों के बावजूद और भारत सरकार की “सबका साथ-सबका विकास” की अवधारणा को अनदेखा करते हुए परियोजनाओं और योजनाओं में आवश्यक अभिरुचि की कमी है। नड्डा ने बताया कि सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, राज्य की पीडब्ल्यूडी और एनएचएआई के माध्यम से लगभग 32,700 करोड़ रुपये का निवेश दो से तीन वर्षों में करने जा रहा है। हिमाचल प्रदेश में नए राष्ट्रीय राजमार्गों के विकास के लिए लगभग 1 9, 400 करोड़ रुपए की लागत लगेगी। नड्डा ने नई घोषित की गई परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा के उपरांत कहा कि इन परियोजनाओं को लागू करने से एक तरफ सड़क की गुणवत्ता और कनेक्विविटी में अभूतपूर्व सुधार होगा और साथ ही साथ राज्य के युवाओं को रोजगार के बहुत अवसर प्रदान करेंगे।  केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मंत्रालय के अधिकारियों से कहा है कि काम की गुणवत्ता के साथ समझौता किए बिना टेंडर की शर्तों में आवश्यक छूट दी जाए, ताकि इन ऐतिहासिक परियोजनाओं को समयबद्ध लागू किया जा सके। नड्डा ने बताया कि बैठक में चार-लेन सड़क परियोजना में वन भूमि हस्तांतरण की धीमी गति और राज्य सरकार के अधिकारियों द्वारा भू-अधिग्रहण के भुगतान में विलम्ब होने पर चर्चा हुई। इस समीक्षा बैठक में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय, एनएचएआई, अतिरिक्त मुख्य सचिव पीडब्ल्यूडी, हिमाचल प्रदेश और राज्य के राष्ट्रीय राजमार्ग अधिकारी शामिल थे।

Dhumal-Nadda की लड़ाई में कहीं तीसरा न ले जाए मलाई !

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है