- Advertisement -

विदेश में नौकरी के नाम पर 30 लाख की ठगी, ऑफिस बंद कर भागे आरोपी

Fraud with 3 men in the name of job in abroad

0

- Advertisement -

हिसार। विदेश में नौकरी के नाम पर ठगी के कई मामले अक्सर सामने आते रहते हैं। हिसार में ऐसे ही ठगी के तीन मामले सामने आए हैं। फतेहाबाद जिला के गांव नूरकी अली के दो और सिरसा जिले के गांव संगरसाधा का एक युवक विदेश में नौकरी करने के नाम पर ठगी का शिकार हो गए और अपने 30.50 लाख रुपए गंवा बैठे। पुलिस ने इस संबंध में गौरव निवासी नूरकी अली की शिकायत पर एडी वीजा एडवाइजर सेंटर के अमनदीप उर्फ जैकी उर्फ जिम्मी गिल निवासी फतेहाबाद और कपिल विज निवासी करनाल के खिलाफ केस दर्ज करके जांच शुरू कर दी है। इस मामले में नूरकी अली के रहने वाले गौरव, सुरेश और संगरसाधा के अमनदीप ने फतेहाबाद के एसपी से शिकायत की है। इसमें इन्होंने कहा है कि वह विदेश जाकर नौकरी करना चाहते थे। उनकी मुलाकात फतेहाबाद में एडी वीजा एडवाइजर सेंटर पर अमनदीप से हुई।

फिनलैंड में वर्क वीजा दिलाने के लिए मांगे 23 लाख रुपए

अमनदीप ने उनको फिनलैंड में वर्क वीजा दिलाने की बात कही और 23 लाख रुपए की डिमांड की। इनमें से 13 लाख रुपए एडवांस देने की बात हुई। उन्होंने 10 लाख रुपए अमनदीप को जमा करवा दिए। अमनदीप ने इसके बाद उनकी मुलाकात कपिल विज से करवाई और कहा कि कपिल की विदेशों में कई रिश्तेदारियां हैं। वह उनको फिनलैंड में सेट करवा देगा। कुछ दिन बाद इन लोगों ने उन्हें बताया कि पहले उनको रूस में टूरिस्ट वीजा दिलाया जाएगा फिर वहां से फिनलैंड में वर्क वीजा पर भेज देंगे। 7 मार्च, 2016 को उन्होंने दिल्ली से रूस के लिए टिकट खरीद लिए और 13 हजार यूरो अपने साथ ले लिए। वहां गौरव गोस्वामी नामक युवक ने उनसे 12 हजार यूरो ले लिए और एक पाकिस्तानी शख्स से मिलवाकर बताया कि यह आपको फिनलैंड ले जाएगा, लेकिन पुलिस ने उनको पकड़ लिया और अगले दिन छोड़ा।
ये लोग उनको अवैध रास्ते से फिनलैंड लेकर जा रहे थे। इसके बाद आरोपियों ने उनको टिकट भेजकर उन्हें वापस भारत बुला लिया। दोबारा फिनलैंड भेजने के नाम पर इन लोगों ने उनसे और रुपए की मांग की और गौरव व अमनदीप को दोबारा रूस भेजा। यूक्रेन में गौरव और अमनदीप का अपहरण कर लिया गया तथा 4.50 लाख रुपए देकर दोनों को छुड़वाया गया। वहां पर यूक्रेन पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद सुरेश ने उनको वापस भारत बुलवाया। जब उन्होंने इन आरोपियों से अपने 30.50 लाख रुपए वापस मांगे तो कुछ दिन तो इन्होंने टालमटोल की और बाद में अपना ऑफिस बंद कर मोबाइल स्विचऑफ कर लिए और घर बेचकर फरार हो गए। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

- Advertisement -

Leave A Reply