Covid-19 Update

58,800
मामले (हिमाचल)
57,367
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,137,922
मामले (भारत)
115,172,098
मामले (दुनिया)

आरोपः जमीन हड़पने के लिए बंधक बनाया, फिर करवा ली Registry

आरोपः  जमीन हड़पने के लिए बंधक बनाया, फिर करवा ली Registry

- Advertisement -

पीड़ित भाईयों ने शिलाई पुलिस व डीसी को सौंपी शिकायत में सुनाया दर्द

नाहन। उत्तराखंड व हिमाचल की सीमा पर प्रस्तावित किशाऊ बांध एक बार फिर जमीन की फर्जी रजिस्ट्रियों को लेकर चर्चा में है। आरोप है कि बांध के डूबे क्षेत्र में 22 जनवरी को फर्जी तरीके से रजिस्ट्री की गई। इसके लिए न केवल एक व्यक्ति को गायब किया गया, बल्कि उसे कुछ लोगों ने बंधक बनाकर 2-4 बीघा जमीन की रजिस्ट्री भी आरोपियों ने जबरन अपनेनाम करवा ली।

यह भी पढ़ें….Paonta Sahib के SDM होंगे लायक राम, Hari Singh धर्मपुर भेजे

जिला सिरमौर के शिलाई इलाके में यह सनसनीखेज वारदात सामने आई है। इस मामले में पीड़ित भाईयों ने शिलाई पुलिस के साथ-साथ डीसी सिरमौर को शिकायत सौंपी है। शिकायत में तीन व्यक्तियों ने उनके भाई को कोई नशीला पदार्थ खिलाकर बंधक बनाने के आरोप लगाए हैं। जानकारी के अनुसार शिलाई तहसील के कंडारा गांव निवासी भगत सिंह, फकीरचंद व जोगीराम ने शिकायत में कहा है कि उनका भाई हीरा सिंह एक सप्ताह से गायब है, जिसका मानसिक संतुलन भी ठीक नहीं है। हीरा सिंह के मानसिक असंतुलन का फायदा उठाकर 22 जनवरी को बांध के डूब क्षेत्र में आने वाली जमीन की रजिस्ट्री आरोपियों ने अपने नाम करवा ली। आरोप यह भी है कि इससे पहले भी किशाऊ बांध की जद में आने वाली जमीन की गलत तरीके से रजिस्ट्रियां हुई हैं, जिनके इंतकाल आज तक नहीं हुए हैं। किशाऊ बांध में हो रहे फर्जी जमीनी सौदों को लेकर जिला प्रशासन पहले भी रोक लगा चुका है, लेकिन फिर भी फर्जी रजिस्ट्रियों का सिलिसला जारी है। पीड़ित भाईयों ने डीसी सिरमौर व शिलाई पुलिस से इस मामले में न्याय की गुहार लगाई है। उधर, इस मामले में डीसी सिरमौर ललित जैन ने शिकायत मिलने की पुष्टि की है। वहीं, शिलाई पुलिस ने भी मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है