Covid-19 Update

2,00,791
मामले (हिमाचल)
1,95,055
मरीज ठीक हुए
3,437
मौत
29,973,457
मामले (भारत)
179,548,206
मामले (दुनिया)
×

अगले वर्ष जल्दी आने का वादा लेकर नम आखों से दी गणपति को विदाई

अगले वर्ष जल्दी आने का वादा लेकर नम आखों से दी गणपति को विदाई

- Advertisement -

शिमला। गणपति बप्पा मोरया अगले बरस तू जल्दी आ के जयकारों के साथ बप्पा की मूर्तियों का विसर्जन किया गया। गणपति उत्सव के समापन अवसर पर पूरे प्रदेश सहित आज सुबह से ही राजधानी में बप्पा के जयकारों के साथ भक्तिमय हो गई। आज सुबह ही हवन की आहुतियों के साथ गणपति उत्सव संपन्न हुआ। लोगों ने इस मौके पर एक दूसरे को गुलाल लगाया।
सीधी विनायक सेवा मंडल शिमला (Shimla) के उपाध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल ने कहा कि 2 सितंबर से गणपति उत्सव का आयोजन किया गया था। इसमें 108 गणपति की मूर्तियों की स्थापना की गई थी। आज सुन्नी के कालीघाट में बप्पा की 108 मूर्तियों को विसर्जन किया।


यह भी पढ़ें: बैजनाथ में गणेश उत्सव का भव्य आयोजन, डॉ राजेश शर्मा रहे चीफ गेस्ट


मंडी। 11 दिनों तक मंदिरों और लोगों के घरों में विराजमान रहने के बाद आज गणपति बप्पा की प्रतिमाओं का हर्षोल्लास के साथ विसर्जन किया गया। मंडी शहर में स्थापित गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन हनुमानघाट पर ब्यास नदी में किया गया। इससे पहले लोगों ने प्रतिमाओं के साथ मंडी शहर में भव्य शोभायात्राएं निकाली, जिसमें स्थानीय देवी-देवताओं के रथ भी शामिल हुए। ढोल नगाड़ों की थाप के साथ छोटी काशी का माहौल पूरी तरह से भक्तिमयी हो गया था। पूरे शहर का चक्कर काटने के बाद गणेश प्रतिमाओं को ब्यास नदी के तट पर लाया गया। यहां डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर पुलिस (Police) और सुरक्षा की पूरी टीम के साथ पहले से मौजूद रहे।

कुल्लू। जिला के विभिन्न स्थानों पर गणपति विर्सजन धूमधाम के साथ संपन्न हुआ। ब्यास और पार्वती नदी के संगम स्थल भुंतर में गणपति का विसर्जन किया। गणपति विसर्जन के दौरान संगम स्थल में हजारों श्रद्वालुओं ने अपनी हाजरी भरी। ब्यास व पार्वती के पंवित्र संगम स्थल पर भक्तों की भीड़ से माहौल देर शाम को भक्तिमय बना रहा, तो शोभायात्रा में वाद्ययंत्रों की देवधुनों व भगवान गणेश के जयकारे से पूरा शहर गूंज उठा।


सुंदरनगर। गणपति उत्सव के अंतिम दिन गणपति विसर्जन का आयोजन किया गया। विसर्जन के दौरान भक्तों ने जमकर गुलाल उड़ाया और शहर के बीच से शोभायात्रा निकाली। इस पावन अवसर पर कई स्थानों पर भंडारे का आयोजन भी किया गया। प्रत्येक वर्ष की भांति इस बार भी बीबीएमबी जलाशय में 9 विशालकाय गणेश की प्रतिमाएं विसर्जित की गईं। बता दें कि पिछले दस दिनों से शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र गणपति बप्पा मोरिया के जयकारों से गूंजयामान रहा। भक्तों ने पंडालों में स्थापित गणेश प्रतिमाओं को भरे मने से विसर्जित किया गया।

नादौन। शहर के नर्वदेश्वर महादेव मंदिर में रखे गए गणपति का विसर्जन धूमधाम से किया गया। विसर्जन के दौरान शहर भर के बाजारों में गणपति शोभा यात्राओं का आयोजन भी किया गया। नादौन में रह रहे महाराष्ट्र मूल के लोगों ने स्थानीय लोगों के सहयोग से गणपति विसर्जन किया।

ऊना। स्कॉलर्स यूनिफाइड स्कूल ऊना (Una) में चल रहा गणेशोत्सव प्रसिद्ध धार्मिक स्थल ब्रह्माहुति में गणपति विसर्जन के साथ संपन्न हो हुआ। स्कूल स्टाफ, छात्रों व अभिभावकों समेत कई श्रद्धालुओं ने गणपति को भावभीनी विदाई दी। इससे पहले वीरवार सुबह स्कूल में स्थापित गणपति की विधिवत पूजा अर्चना की गई, जिसके बाद विसर्जन की तैयारी शुरू की गई।


हरिपुर। कांगड़ा जिला के देहरा उपमंडल के तहत पड़ते हरिपुर में गणपति विसर्जन की धूम रही। गणेश जी की प्रतिमा को विसर्जित करने से पहले शोभायात्रा निकाली गई। इसके बाद स्थानीय बनैर में गणपति विसर्जन किया गया।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है