Covid-19 Update

58,460
मामले (हिमाचल)
57,260
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,046,914
मामले (भारत)
113,175,046
मामले (दुनिया)

लापरवाहीः परिवार नियोजन ऑपरेशन के बीच में खत्म हुई गैस, मशीन भी खराब

लापरवाहीः परिवार नियोजन ऑपरेशन के बीच में खत्म हुई गैस, मशीन भी खराब

- Advertisement -

मंडी। मरीज ऑपरेशन टेबल पर, ऐनेस्थिसिया भी दे दिया और जैसे ही ऑपरेशन करने की बारी आई तो पता चला कि कार्बन डाई ऑक्साइड गैस खत्म हो गई है। साथ ही लेप्रोस्कोपी मशीन भी खराब हो गई। ऐसे में खुद ऑपरेशन थिएटर में मौजूद डॉक्टरों के होश उड़ गए। आनन-फानन में उच्चाधिकारियों को फोन किया गया, लेकिन किसी भी अधिकारी ने फोन नहीं उठाया। यह पूरा घटनाक्रम घटा सीएम जयराम ठाकुर के गृह जिला के सबसे बड़े अस्पताल मंडी में।
शुक्रवार को जोनल हॉस्पिटल मंडी में परिवार नियोजन के ऑपरेशन होने थे। जिला के दूर दराज इलाकों से करीब 40 महिलाएं और उनके परिजन ऑपरेशन करवाने आए हुए थे। 9 ऑपरेशन होने के बाद जैसे ही दसवें मरीज को ऐनेस्थिसिया देकर ऑपरेशन टेबल पर लैटाया गया तो पता चला कि गैस खत्म हो गई है और मशीन काम नहीं कर रही। ऐसे में ऑपरेशन रोक दिए गए और वह मरीज वैसे ही ऑपरेशन टेबल पर पड़ी रही।

ऐनेस्थिसिया स्पेशलिस्ट को नहीं थी ऑपरेशन की जानकारी

ऑपरेशन थिएटर के प्रभारी एवं ऐनेस्थिसिया स्पेशलिस्ट डॉ. अश्वनी ठाकुर ने बताया कि उन्होंने गैस सप्लाई करने वाले और जोनल हॉस्पिटल के एमएस को फोन पर पूरी स्थिति समझाई, लेकिन किसी ने कोई मदद नहीं की। डॉ. अश्वनी ने निराशा जाहिर करते हुए कहा कि जब परिवार नियोजन के लिए अलग से कार्यक्रम अधिकारी नियुक्त किए हैं और सारी व्यवस्था सरकार की तरफ से की गई है तो फिर अधिकारियों ने समय पर कोई सहायता क्यों नहीं की। वहीं डॉ. अश्वनी ने यह खुलासा भी किया कि आज के ऑपरेशन की उन्हें पहले से कोई जानकारी ही नहीं दी गई थी। ऐसे में ऑपरेशन थिएटर में बिना तैयारी के ही महिलाओं को ऑपरेशन के लिए यहां भेज दिया गया।
गायनी स्पेशलिस्ट डॉ. कपिल मल्होत्रा ने बताया कि ऑपरेशन थिएटर की दुर्दशा को लेकर बार-बार अधिकारियों को बताया गया, लेकिन कोई सुध नहीं ले रहा है। उन्होंने बताया कि अधिकारी इस तरफ ध्यान नहीं देते और मरीजों को ऑपरेशन करवाने के लिए भेज देते हैं और जरूरत पड़ने पर कोई फोन भी नहीं उठा रहा। वहीं, हॉस्पिटल में ऑपरेशन करवाने आई महिलाएं दिन भर भूखी प्यासी रहीं और ऑपरेशन के लिए दिए कपड़ों को पहनकर ठंड में ठीठुरती रहीं। महिलाओं को डॉक्टरों से कोई शिकवा नहीं था लेकिन अव्यवस्थाओं को लेकर इन्होंने भी जमकर अपनी भड़ास निकाली और सरकार से सुविधाएं जुटाने की मांग उठाई।

मामले की होगी जांच, दोषियों पर होगी कार्रवाई

वहीं, इस बारे में सीएमओ मंडी डॉ. जीवानंद चौहान से बात की गई तो उन्होंने बताया कि वह पीएचसी के उद्घाटन के लिए मंत्री के साथ धर्मपुर गए थे और जैसे ही उन्हें इसकी सूचना मिली तो उन्होंने भी अस्पताल के अधिकारियों को फोन किया, लेकिन नंबर बंद आ रहे थे। उन्होंने बताया कि व्यवस्था करके ऑपरेशन शुरू करवा दिए गए हैं और इस पूरे प्रकरण को लेकर जांच बैठा दी गई है। उन्होंने बताया कि जो भी इसमें दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी और इसकी शिकायत राज्य सरकार से भी की जाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए सब्सक्राइब करें हिमाचल अभी अभी न्यूज अलर्ट

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है