Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,579,651
मामले (भारत)
197,642,926
मामले (दुनिया)
×

मनाली से लेह तक टनल बनाने के लिए हो रहा ज्योग्रॉफिकल हवाई सर्वे

मनाली से लेह तक टनल बनाने के लिए हो रहा ज्योग्रॉफिकल हवाई सर्वे

- Advertisement -

कुल्लू। सुरक्षा की दृष्टि से सुदृढ़ करने के लिए रक्षा मंत्रालय,सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के द्वारा एनएचआईडीसीएस व एयरफोर्स के सहयोग से मनाली से लेह के बीच ऑल वैदर रोड कनेक्टिविटी की सुविधा निर्माण के लिए प्रस्तावित प्रोजेक्ट पर राष्ट्रीय राजमार्ग अब संरचना विकास निगम लिमिटेड के द्वारा एयरफोर्स के एमआई 17 के हेलिकॉप्टर से हिमाचल प्रदेश एवं केंद्र शासित प्रदेश लेह, लद्दाख को जोड़ने के लिए प्रस्तावित 3 टनल निर्माण के लिए भू-गर्भ सर्वेक्षण करने के लिए विदेश से एयरवोर्नप इलेक्ट्रोमेग्नेटिक एंटीना इक्विपमेंट से ज्योग्राफिकल सर्वे शुरू किया गया है ,जिसके लिए एनएचआईडीसीएल व एयरफोर्स की टीम सहित विदेशी टेक्नीकल इंजीनियरों ने 2 दिनों में सफल ट्रायल किया। 2 सप्ताह तक मनाली से लेह के बीच में एयरवोर्नप इलेक्ट्रोमेग्नेटिक एक्यूवमेंट से ज्योग्रॉफिकल सर्वे करेंगे। जिसके लिए कुल्लू मनाली भुंतर एयरपोर्ट ऑथारिटी के द्वारा इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइड किया गया है। नॉर्वे से लाए गए विदेशी एयरवोर्नप इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इक्विपमेंट एंटीना एक्यूमेंट से मनाली लेह के बीच में पड़ने वाले 3 दर्रो के अंदर यह एयरवोर्नप इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इक्विपमेंट एंटीना एक्यूमेंट पहाड़ी के अंदर करीब 800 मीटर तक स्कैनिंग करेंगा।


कुल्लू-मनाली भुंतर एयरपोर्ट के निदेशक नीरज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि मनाली ने के बीच में 3 टनल बनाने के लिए फीजिबिलिटी एक्सप्लोरर की जा रही है एयरवोर्न इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इक्विपमेंट्स से भू गर्भ सर्वे किया जा रहा है जिसके लिए नेशनल हाईवे इन्फ्राट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड इसका हवाई सर्वे कर रही है एयर फोर्स के एमआई 17 हेलीकॉप्टर में विदेशी एक्यूवमेंट एंटीना हैंग किया गया है ,जिसके तहत मनाली लेह के बीच में 3 टनल बनाने के लिए ज्योग्राफिकल सर्वे किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस विदेशी तकनीक से सर्वे कर पहाड़ियों में टनल बनाने की फिजिबिलिटी है या नहीं इसकी जांच की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह सर्वे करीब 2 सप्ताह तक चलेगा जिसके तहत इस विदेशी तकनीक से देश मे पहली बार इस तरफ का ज्योग्राफिकल सर्वे किया जा रहा है। मनाली से लेह के बीच में बनने वाली 3 टनल फीजिबिलिटी चेक की जा रही है।

टर्मिनल मैनेजर रवि श्रीवास्तव ने बताया कि मनाली लेह के बीच में ऑल वेदर कनेक्टिविटी नहीं है जिससे सर्दियों में बर्फबारी के कारण मनाली लेह लद्दाख के लिए सड़क मार्ग बंद रहता है। जिसके चलते रक्षा मंत्रालय,सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय एयरफोर्स के द्वारा यह प्रोजेक्ट के लिए हवाई सर्वे किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट के लिए टेक्निकल स्पोर्ट विदेश से लिया गया है। पिछले 2 दिनों से लेकर इंडियन एयरपोर्ट अथारिटी की टीम एनएचआईडीसीएल के अधिकारी के द्वारा ट्रायल किया गया है, जिसके लिए एयरफोर्स की टीम ने मनाली से ले के बीच में पहले ही हवाई सर्वे किया है और अब इस विदेशी इक्विपमेंट के साथ कल से हवाई सर्वे शुरू किया जाएगा।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है