Covid-19 Update

1,51,597
मामले (हिमाचल)
1,11,621
मरीज ठीक हुए
2156
मौत
24,046,809
मामले (भारत)
161,846,155
मामले (दुनिया)
×

#Swarnim_Himachal: प्रदेश भर में रही पूर्ण राज्यत्व के पचास साल के जश्न की धूम

#Swarnim_Himachal: प्रदेश भर में रही पूर्ण राज्यत्व के पचास साल के जश्न की धूम

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी टीम। हिमाचल में आज पूर्ण राज्यत्व दिवस (statehood day) की स्वर्ण जयंती (golden jubilee) धूमधाम से मनाई जा रही है। प्रदेश में कई स्थानों पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों (Cultural Events) का आयोजन किया गया। वहीं, राजधानी शिमला के रिज (Ridge) पर राज्यस्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसका प्रदेश भर में सीधा प्रसारण दिखाया गया। कार्यक्रम में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda), अनुराग ठाकुर और सीएम जयराम ठाकुर मौजूद रहे। सुबह 10 से 11 बजे तक जिला व उपमंडल स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसके बाद 11 बजे से राज्य स्तरीय स्वर्णिम हिमाचल समारोह लाइव देखा गया।


हिमाचल के बारे में जानते हैं।

हिमाचल प्रदेश ने आज यानी 25 जनवरी, 2021 को पूर्ण राज्यत्व के 50 वर्ष पूरे कर लिए हैं। देश की आजादी के पूरे आठ महीने बाद 15 अप्रैल 1948 को 30 छोटी-बड़ी पहाड़ी रियासतों के विलय के परिणामस्वरूप चीफ कमिशनर प्रोविंस के रूप में हिमाचल अस्तित्व में आया। वर्ष 1950 को हिमाचल को “सी” स्टेट का राज्य का दर्जा देकर विधानसभा के गठन का प्रावधान कर दिया गया। मार्च 1952 में डॉ. वाईएस परमार (DR. YS Parmar) ने इस प्रदेश के प्रथम सीएम के रूप में शपथ ग्रहण की और अपने तीन सदस्यीय मंत्रिमंडल का गठन किया।


यह भी पढ़ें: स्वर्णिम हिमाचल समारोह में Jai Ram ने याद किए पूर्व सीएम, नड्डा को लेकर कही यह बात

 

यह भी पढ़ें: हिमाचलियों से बोले Nadda -उजाले का मजा लेना है तो अंधकार को याद रखना

जुलाई 1954 में बिलासपुर को हिमाचल में मिलाकर इसे प्रदेश का पांचवां जिला बनाया गया। पहली नवंबर, 1956 को हिमाचल प्रदेश केंद्र शासित राज्य बना। सन 1966 में कांगड़ा, ऊना, हमीरपुर, कुल्लू, लाहुल-स्पीति, शिमला, नालागढ़, कंडाघाट, डलहौजी आदि क्षेत्र हिमाचल में शामिल किए गए। 25 जनवरी 1971 को तत्कालीन पीएम इंदिरा गांधी ने स्वयं शिमला आकर यहां के ऐतिहासिक रिज में एकत्रित हजारों हिमाचलवासियों के बीच हिमाचल को पूर्ण राज्य प्रदान करने की घोषणा की। जब यह घोषणा की गई तो रिज मैदान पर बर्फ के फाहें गिर रहे थे।

पीजी कॉलेज ऊना में हुआ जिलास्तरीय कार्यक्रम

 

ऊना। जिला ऊना (Una) में पूर्ण राज्यत्व दिवस की स्वर्ण जयंती धूमधाम से मनाई गई। जिला ऊना में छह स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। पीजी कॉलेज ऊना में जिलास्तरीय समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस दौरान जिला के प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा नव-निर्वाचित पंचायती राज और शहरी निकायों के प्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया। पूर्ण राज्यत्व दिवस के 50 वर्ष पूरे होने पर जहां सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। वहीं, राज्यस्तरीय कार्यक्रम (State level program) का सीधा प्रसारण एलईडी के माध्यम से दिखाया गया। इस दौरान वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने जिला और प्रदेशवासियों को पूर्ण राज्यत्व दिवस की बधाई दी।

हमीरपुर में पुर्ण राज्यत्व दिवस पर रही धूम

हमीरपुर। बचत भवन में हिमाचल प्रदेश के पुर्ण राज्यत्व दिवस स्वर्ण जयंती पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के तौर पर डीसी हमीरपुर देवश्वेता बनिक व एसपी कार्तिकेयन गोकूल चंद्रन ने शिरकत की। कार्यक्रम में समाज से जुडे प्रतिष्ठित लोगों को विशेष तौर पर आमंत्रित किया गया था। कार्यक्रम में एलईडी स्क्रीन भी लगाई गई, जिसके माध्यम से शिमला में होने वाले राज्य स्तरीय पूर्ण राजत्व दिवस समारोह का सीधा प्रसारण किया गया। समारोह में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया साथ ही स्वर्ण जंयती समारोह हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।

संस्कृति, पर्यावरण व इतिहास को भविष्य के लिए सहेजना बहुत जरूरी

मंडी। हिमाचल प्रदेश के पूर्ण राजत्व दिवस के मौके पर सोमवार को मंडी (Mandi) शहर के विपाशा सदन में एक जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में हिमाचल गौरव सम्मान प्राप्त वरिष्ठ छायाकार व पत्रकार बीरबल शर्मा ने मुख्यअतिथि के रूप में शिरकत की। इस अवसर पर हिमाचल गौरव बीरबल शर्मा ने कहा कि प्रदेश ने अपने विकास का स्वर्णिम इतिहास लिखा है लेकिन हमें आने वाले समय के लिए अपने आसपास प्राचीन स्थलों, सम्मारकों, बावडि़यों, संस्कृति, रीति रिवाजों के साथ-साथ पर्यावरण को भी सहेजने की आवश्यकता है। तभी हम आने वाले 50 वर्षों के बाद उसे सभी को समर्पित कर सकते हैं।

बिलासपुर में किसान भवन में आयोजित किया कार्यक्रम

 

बिलासपुर। 25 जनवरी, 1971 को पूर्ण राज्य का दर्जा प्राप्त कर देश का 18वां राज्य बने हिमाचल प्रदेश को आज 50 साल पूरे हो चुके हैं। इस खास दिन को स्वर्ण जयंती दिवस के रूप में प्रदेश के जिला मुख्यालयों सहित उपमंडल स्तर पर भी धूमधाम से मनाया जा रहा है। जिला बिलासपुर (Bilaspur) में किसान भवन में जिलास्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसके साथ ही नैनादेवी, झंडूता व घुमारवीं उपमंडल के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में भी रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए गए। किसान भवन में आयोजित किए गए जिलास्तरीय कार्यक्रम में डीसी बिलासपुर रोहित जम्वाल सहित प्रशासनिक अधिकारी व नवनिर्वाचित प्रधान व उपप्रधान भी मौजूद रहे। वहीं, कार्यक्रम के दौरान कहलूरी संस्कृति को दर्शाते हुए शानदार लोकनृत्य पेश किए गए। जिसके बाद शिमला में आयोजित राज्यस्तरीय कार्यक्रम का एलईडी के माध्यम से लोगों ने लाइव प्रसारण देखा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है