×

गुड़िया प्रकरणः जमानत पर चल रहे अफसरों के स्टेट्स पर सरकार ने मांगे कमेंट्स

गुड़िया प्रकरणः जमानत पर चल रहे अफसरों के स्टेट्स पर सरकार ने मांगे कमेंट्स

- Advertisement -

शिमला। गुड़िया प्रकरण (Gudiya Case) से जुड़े पुलिस (Police) लॉकअप में हुई सूरज हत्या केस में जमानत पर चल रहे तीन पुलिस अफसरों के स्टेट्स (Status) पर सरकार (Government) ने पुलिस मुख्यालय (Police Headquarters) से कमेंट्स (Comments) मांगे हैं। आईजी (IG) जहूर जैदी, पूर्व एसपी (SP) डीडब्ल्यू नेगी और डीएसपी (DSP) मनोज जोशी को हाल ही में कोर्ट (Court) से जमानत मिली थी।


यह भी पढ़ें: देखिए कंडक्टर की दादागिरी : चेकिंग के लिए पहुंचे इंस्पेक्टरों को कैसे हड़काया

 

हालांकि तीनों अधिकारी पुलिस मुख्यालय (Police Headquarters) में अपनी सेवाएं दे रहे हैं, लेकिन अभी तक कोई पद नहीं मिला है। इसे देखते हुए विधि विभाग की राय के बाद गृह विभाग ने पुलिस महानिदेशक (DGP) एसआर मरड़ी से जल्द कमेंट्स देने को कहा है।

ऐसे में अब पुलिस महानिदेशक (DGP) की ओर से कमेंट्स (Comments) मिलने के बाद गृह विभाग उस फाइल को सीएम (CM) के हवाले कर देगा, जिसकी समीक्षा होगी और सस्पेंशन बहाली पर अंतिम फैसला भी सरकार लेगी। गृह विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक जैदी, नेगी और जोशी की जमानत से संबंधित पूरी सूचना की फाइल पुलिस मुख्यालय (Police Headquarters) से आई है, जिसे विधि विभाग की ओपीनियन के के बाद डीजीपी एसआर मरड़ी से कमेंट्स मांगे हैं। ऐसे में अब जैदी की पोस्टिंग मामले पर अंतिम फैसला प्रदेश सरकार करेगी। उल्लेखनीय है कि कोटखाई गैंग रेप और मर्डर केस से जुड़े सूरज हत्या मामले में आईजी जैदी, पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी, डीएसपी मनोज जोशी सहित आठ पुलिस जवान गिरफ्तार हुए थे।

 

यह भी पढ़ें: दिल्ली की शपथ ने शिमला को किया सूना, बिन बुलाए सब दौड़े चले गए

 

इसमें जैदी को सुप्रीम कोर्ट और डीडब्ल्यू नेगी और मनोज जोशी को प्रदेश हाईकोर्ट (High Court) ने जमानत मिली है। जबकि अन्य अभी तक न्यायिक हिरासत में ही हैं। आईजी जैदी, पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी और डीएसपी मनोज जोशी के सस्पेंशन रद्द होने में अभी समय लग सकते हैं। उसके बाद ही तीनों अफसरों की नई पोस्टिंग पर फैसला होना है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक गुड़िया प्रकरण (Gudiya Case) में पुलिस वालों के खिलाफ कोर्ट में ट्रायल चलता रहेगा। प्रदेश सरकार भी सभी पहलुओं की समीक्षा करने के बाद ही तीनों पुलिस अफसरों के सस्पेंशन पर फैसला करेगी।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है