- Advertisement -

कीटनाशकों की सप्लाई में कटौती करेगी सरकार, प्राकृतिक खेती पर देगी बल

कृषि विभाग की रिपोर्ट में लाहुल स्पीति में रसायन का सबसे अधिक हुआ प्रयोग

0

- Advertisement -

कुल्लू।प्रदेश के विभिन्न जिलों में हुए सर्वे की रिपोर्ट में रसायनिक खाद व कीटनाशकों के प्रयोग के बाद अब हिमाचल सरकार कीटनाशकों की सप्लाई में कटौती करने जा रहा है। वहीं, कीटनाशकों व रसायनिक खादों के बदले में लोगों को प्राकृतिक खेती की ओर मोड़ा जाएगा। ताकि किसान व जमीन दोनों खुशहाल हो सके।

बीते दिनों आई एक रिपोर्ट के अनुसार पूरे प्रदेश में लाहुल-स्पीति जिला को पहला स्थान दिया गया है। जहां कीटनाशक व रसायनिक खाद का सबसे अधिक प्रयोग हुआ है।ऐसे में वहां की मिट्टी में रसायनिक पदार्थ सबसे अधिक पाए गए है। वही, रिपोर्ट में दूसरा स्थान शिमला व तीसरा स्थान ऊना जिला का है। जहां फसलों की पैदावार को बढ़ाने के लिए रसायनों का अधिक प्रयोग किया जा रहा है।

कृषि मंत्री डॉ रामलाल मार्कंडेय ने कहा कि प्रदेश में प्राकृतिक खेती के माध्यम से कृषि की जाएगी और लोगों को भी इस बारे जागरूक किया जाएगा।वहीं, प्रदेश में बढ़ रहे कीटनाशकों के प्रयोग को देखते हुए सरकार इसमें भी कटौती करने जारही है। वहीं, 2022 तक पूरे प्रदेश को प्राकृतिक खेती राज्य घोषित किया जाएगा, जिसके लिए प्रदेश सरकार बजट के साथ किसानों को प्रशिक्षण भी दे रही है।

 

- Advertisement -

Leave A Reply