Covid-19 Update

2,16,813
मामले (हिमाचल)
2,11,554
मरीज ठीक हुए
3,633
मौत
33,448,163
मामले (भारत)
229,050,821
मामले (दुनिया)

राज्यपाल की सलाह- हर चीज में सब्सिडी गलत बात है, रोजगार देने वाले बनें युवा

महामहिम ने दीक्षांत समारोह में कहा- स्वरोजगार पैदा करने वाला बनों

राज्यपाल की सलाह- हर चीज में सब्सिडी गलत बात है, रोजगार देने वाले बनें युवा

- Advertisement -

पालमुपर। राज्यपाल व कृषि विश्वविद्यालय पालमुपर (Agriculture University Palampur) के कुलाधिपति राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर (Chancellor Rajendra Vishwanath Arlekar) विवि के दीक्षांत समारोह में पहुंचे। इस अवसर उन्होंने कहा कि पूर्व सीएम शांता कुमार (Former CM Shanta Kumar) ने कृषि विश्‍वविद्यालय का एक स्वप्न देखा था। आज यह एक बहुत बड़ा वट वृक्ष बन चुका है। हमेशा ही युवाओं से कुछ उम्मीद होती है। समाज के लिए भी काम करना है। जो वैज्ञानिक यहां से जाएंगे, जिन्हें गोल्ड मेडल मिला है उन्होंने लीग से हटकर कुछ काम किया है इसलिए उन्हें पदक मिला है। ऐसे होनहारों को अब रोजगार मांगने वाला नहीं, बल्कि रोजगार देने वाला बनना चाहिए। इसलिए युवा नौकरी से हटकर कुछ कर के दिखाएं। खुद रोजगार पैदा करें और दूसरे को रोजगार प्रदान करें।

सब्सिडी से दूर रहें लोग- राज्यपाल

महामहिम ने कहा कि जिस भी क्षेत्र में महारथ हासिल है उस क्षेत्र में आगे बढ़े। अन्य लोगों को रोजगार देने वाले बने। बाहर जाकर बड़े अवसर तलाशने के लिए क्या मानसिक रूप से तैयार हैं। इस बारे में सोचना चाहिए। केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार ने युवाओं के लिए काफी योजनाएं बनाई हैं। लेकिन रोजगार मांगने के लिए नहीं रोजगार देने के लिए तैयार होना है। राज्यपाल विश्वनाथ अर्लेकर ने कहा कि लोगों को हर चीज में सब्सिडी चाहिए। यह गलत बात है। सब्सिडी का मतलब यह है कि व्यक्ति को निष्क्रिय करना है। कुछ कष्ट करके कमाना चाहिए, सब्सिडी से दूर रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें: सुगंधित फूलों से महकेगा भारत का ठंडा रेगिस्तान, CSIR-IHBT पालमपुर ने निकाला फॉर्मूला

हम समाज को क्या दे सकते हैं इसपर सोचना चाहिए

दीक्षांत समारोह के अवसर पर उन्होंने कहा कि कृषि विवि के विद्यार्थियों के युवाओं को आगे बढ़कर प्रयास करने चाहिए। हर विवि का वाइस चांसलर होता है, शैक्षणिक परिषद होती हैं, विद्यार्थी होते हैं। इस पूरे विवि का समाज के प्रति दायित्व होता है। इसलिए उन्होंने खुद सभी वाइस चांसलरों को भोजन के लिए बुलाया है। आर्लेकर ने कहा कि उन्होंने विवि के कुलपतियों के सामने दो विषय रखे। उन्होंने कहा कि आप विवि के प्रमुख है, शिक्षक हैं। शिक्षित योगदान देने के साथ-साथ और क्या दे सकते हैं। राज्यपाल ने इस मौके पर कहा कि हिमाचल प्रदेश को अस्तित्व में आने के पचास साल पूरे हुए हैं, देश की स्वतंत्रता के 75 साल पूरे हुए हैं। विश्वनाथ आर्लेकर ने कहा कि ऐसे में इस संयोग वर्ष में इस वर्ष समाज को क्या दे सकतें। इस बारे में हम सभी को और खासकर युवा वर्ग को सोचना चाहिए। उन्होंने युवाओं से मास्टर प्लान बनाने को कहा है। साथ ही समस्या समाधान के लिए क्या कर सकते हैं, इस लिए जवाब भी मांगे।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है