Covid-19 Update

1,37,766
मामले (हिमाचल)
1,02,285
मरीज ठीक हुए
1965
मौत
22,992,517
मामले (भारत)
159,607,702
मामले (दुनिया)
×

राज्यपाल बोले- Online शिक्षा प्रणाली को और अधिक सुदृढ़ बनाने की जरूरत

कुलपतियों से कोविड के विरूद्ध लड़ाई में सहयोग का आह्वान किया

राज्यपाल बोले- Online शिक्षा प्रणाली को और अधिक सुदृढ़ बनाने की जरूरत

- Advertisement -

शिमला। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय (Governor Bandaru Dattatreya) ने आज राज्य के छह सरकारी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस (Video Conference) के माध्यम से बाचतीत करते हुए कोविड (Covid) महामारी की दूसरी लहर से उत्पन्न स्थितियों पर चर्चा की। उन्होंने विश्वविद्यालय स्तर पर की गई तैयारियों की जानकारी ली और निर्देश दिए कि सामाजिक उत्तरदायित्व का पालन करने के अतिरिक्त वे शिक्षण अनुसूचि को भी प्राप्त करने के प्रयास करें। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षण संस्थानों के विद्यार्थियों को जिला प्रशासन को सहयोग देने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि युवा टीकाकरण और मास्क (Mask) के उपयोग अभियान के प्रति लोगों को जागरूक करने और कोविड से बचाव से संबंधित अन्य जानकारी साझा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। कोविड महामारी से लड़ने में टीकाकरण एक प्रभावी हथियार साबित हो रहा है और इस अभियान को तेजी दी जानी चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों को जिला रेडक्रॉस के माध्यम से भी जरूरतमंदों की सहायता करने के लिए आगे आने को कहा।


यह भी पढ़ें: बालीचौकी को 14.36 करोड़ रुपये की सौगातें, जयराम ने Shimla से रखी आधारशिला

दत्तात्रेय ने कहा कि ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली (Online Education System) को और अधिक सुदृढ़ बनाना चाहिए और प्रयास किए जाएं कि यह कार्य निर्बाध रूप से जारी रहे। उन्होंने सभी विश्वविद्यालयों से आपसी सहयोग एवं समन्वय के साथ कार्य करने और शोध, नवीनीकरण व प्रौद्योगिकी को एक-दूसरे के साथ बांटने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि समाज में कोविड महामारी के कारण तनाव के मामले बढ़ रहे हैं, इसलिए विश्वविद्यालय स्तर पर परामर्श सुविधा बढ़ाई जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि विशेष तौर पर कृषि और बागवानी विश्वविद्यालय किसानों की सहायता कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Himachal: 10वीं और 11वीं के छात्रों को प्रोमोट करने की क्या तैयारी, पढ़ें खबर

कुलपतियों ने यूजीसी द्वारा कोविड-19 के संबंध में जारी किए गए दिशा-निर्देशों के आधार पर विश्वविद्यालय (University) में शिक्षण और गैर-शिक्षण गतिविधियों की वर्तमान स्थिति के बारे में राज्यपाल को अवगत करवाया। उन्होंने ऑनलाइन शिक्षण और पिछले एक वर्ष में किए गए प्रयासों के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने कोविड देखभाल गतिविधियों में विद्यार्थियों और शिक्षकों की भागीदारी का भी ब्यौरा दिया। सभी कुलपतियों ने इस अवसर पर वर्तमान परिस्थिति से निपटने के लिए अपने बहुमूल्य सुझाव दिए। राज्यपाल के सचिव राकेश कंवर ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया। हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला के कुलपति प्रो. सिकन्दर कुमार (Himachal Pradesh University, Shimla, Vice Chancellor Prof. Sikander Kumar), डॉ. वाई एस परमार बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय, नौणी के कुलपति डॉ. परमिन्दर कौशल, कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर के कुलपति डॉ. एचके चौधरी, हिमाचल प्रदेश तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर के कुलपति प्रो. एसपी बंसल, सरदार वल्लभ भाई पटेल क्लस्टर विश्वविद्यालय मंडी के कुलपति डॉ. सीएल चंदन और अटल चिकित्सा एवं शोध विश्वविद्यालय मंडी के कुलपति डॉ. सुरेंद्र कश्यप ने बैठक में भाग लिया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है