Covid-19 Update

1,99,197
मामले (हिमाचल)
1,91,732
मरीज ठीक हुए
3,394
मौत
29,633,105
मामले (भारत)
177,414,471
मामले (दुनिया)
×

पीडीपी के दावे से आंख मूंदकर गवर्नर ने भंग की जम्मू-कश्मीर असेंबली 

पीडीपी के दावे से आंख मूंदकर गवर्नर ने भंग की जम्मू-कश्मीर असेंबली 

- Advertisement -

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने पीडीपी के सरकार बनाने के दावे को अनदेखा कर बुधवार रात असेंबली को भंग कर दिया। इससे पहले पीडीपी की नेता और पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने गवर्नर को चिट्ठी लिखकर सरकार बनाने का दावा पेश किया था। मुफ्ती का आरोप है कि गवर्नर ने न तो चिट्ठी रिसीव की और न ही फोन उठाया। 
इसे पीडीपी और कांग्रेस के संभावित गठजोड़ का झटका माना जा रहा है। पीडीपी ने पत्र फैक्स के जरिए राज्यपाल कार्यालय को भेजा था। मुफ्ती ने अपने पत्र में लिखा, “जैसा कि आप जानते हैं कि राज्य विधानसभा में 29 विधायकों के साथ पीडीपी सबसे बड़ी पार्टी है। मीडिया के जरिए आपको जानकारी मिल ही गई होगी कि कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस पीडीपी के साथ सरकार बनाने पर सहमत हो गए हैं। एनसी के पास 15 और कांग्रेस के पास 12 विधायक हैं। इस तरह हमारे पास कुल 56 विधायकों का समर्थन है। मैं अपनी पार्टी की तरफ से सरकार बनाने का दावा पेश करती हूं।”
जम्मू-कश्मीर में नई सरकार के गठन को लेकर महबूबा मुफ्ती की पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी), उमर अबदुल्ला की अध्यक्षता वाली नेश्नल कॉन्फ्रेंस (एनसी) और कांग्रेस साथ आए थे। राज्य की सियासत में धुर विरोधी मानी जाने वाली एनसी और पीडीपी ने बीजेपी को रोकने के लिए साथ आने का फैसला किया था। तीनों दलों की बैठक में मुख्यमंत्री पद के लिए अल्ताफ बुखारी के नाम पर सहमति बनी थी।
मार्च 2015 में पीडीपी और भाजपा की गठबंधन सरकार बनी थी। तब मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद बने थे, उनके निधन के बाद महबूबा मुफ्ती सीएम बनीं। इस साल 16 जून को पीडीपी-बीजेपी गठबंधन से बीजेपी अलग हो गई थी। इसके बाद से यहां राज्यपाल शासन लगा हुआ है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है