×

अब भोरंज में होगा Dialysis का उपचार

अब भोरंज में होगा Dialysis का उपचार

- Advertisement -

Parvati Hospital Dialysis : हमीरपुर। अब डायलिसिस जैसी गंभीर बीमारी के उपचार के लिए हमीरपुर के लोगों को यहां-वहां नहीं भागना पड़ेगा। शुक्रवार को भोरंज के दशमाल में पार्वती अस्पताल का राज्यपाल आचार्य  देवव्रत ने शुभारंभ कर दिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि गुणात्मक चिकित्सा सेवाओं के विस्तार के साथ-साथ लोगों से पारपंरिक भारतीय जीवन पद्धति को अपनाना चाहिए। सर गंगाराम अस्पताल, नई दिल्ली तथा सर गंगाराम न्यास समिति के सहयोग से पार्वती एजुकेशन एंड हेल्थ सोसायटी द्वारा संचालित इस अस्पताल में डायलिसिस जैसे विभिन्न गंभीर रोगों के उपचार की सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं। राज्यपाल ने कहा कि स्वस्थ व्यक्ति ही समाज व राष्ट्र की सबसे बड़ी पूंजी है, क्योंकि शरीर व मन से स्वस्थ व्यक्ति ही समाज के कल्याण में सहयोग कर सकता है। 


अस्पताल के निर्माण के लिए डॉ. डीएस राणा को दी बधाई

भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति का उल्लेख करते हुए कहा कि शरीर में रक्त की संरचना 80 प्रतिशत क्षारीय और 20 प्रतिशत अमलीय है। इसके असंतुलन से ही रोग पैदा होते हैं। इसे संतुलित बनाए रखने के लिए उन्होंने स्वस्थ सोच के साथ-साथ दैनिक दिनचर्या में सुधार का आग्रह किया। ग्रामीण क्षेत्र में उच्च स्तर के अस्पताल के निर्माण के लिए उन्होंने डॉ. डीएस राणा को बधाई दी। इस  दौरान नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने राज्यपाल का स्वागत किया। उन्होंने डॉ राणा के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे अन्यों के लिए प्रेरणास्रोत हैं तथा उन्हें स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया गया है। 

ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं पर सरकार गंभीर

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार विशेषतौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में सुदृढ़ एवं बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत है। गत चार वर्षों के दौरान अनेक चिकित्सा संस्थान ग्रामीण क्षेत्रों में आरंभ किए गए अथवा स्तरोन्नत किए गए। उन्होंने कहा कि गत चार वर्षों के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में ही 32 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों को नागरिक अस्पतालों में स्तरोन्नत किया गया।  इस मौके पर विधायक डॉ. अनिल धीमान, पूर्व संसदीय सचिव अनिता वर्मा, जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। इसे पहले राज्यपाल ने ज्ञान गंगा गऊ सेवा संस्थान ब्लयूट का भी दौरा किया तथा गो पालन व नस्ल सुधार के लिए संस्थान को 50 हजार रुपए देने की घोषणा की।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है