Expand

जानिए, अधिकारियों के साथ 6 किलोमीटर पैदल क्यों चले गोविंद सिंह ठाकुर

6 किमी पैदल यात्रा कर सरेऊलसर पहुंचे वन मंत्री

जानिए, अधिकारियों के साथ 6 किलोमीटर पैदल क्यों चले गोविंद सिंह ठाकुर

कुल्लू। सरेऊलसर क्षेत्र को ईको टूरिज्म के तहत विकसित किया जाएगा और रघुपुर गढ़ से सरेऊसर होकर लामीलांबरी तक करीब 21 किमी ट्रेक बनाया जाएगा। इसके साथ ही श्रद्धालुओं की सुविधा के लिये जलोडीजोत से कुछ आगे तक छोटे प्रदूषण रहित वाहनों की आवाजाही के लिये सड़क बनाई जाएगी। यह बात वन एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने मंगलवार को सरेऊलसर में पहुंच कर कही।
वन एवं परिवहन मंत्री  गोविंद सिंह ठाकुर मंगलवार को अधिकारियों के साथ छह किमी का पैदल सफर कर सरेऊलसर झील पहुंचे। यहां पहुंचने पर क्षेत्र के लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया। उन्होंने यहां की आराध्य माता बूढ़ी नागिन और सरेऊलसर झील के दर्शन करने के बाद यहां के कारकूनों के साथ बैठक की।
इस अवसर पर मंत्री ने सरेऊलसर झील को बिजली, पानी की सुविधाओं से जोड़ने की बात कही। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरेऊलसर का नजारा किसी जनत से कम नहीं है। यहां की खूबसूरती देखकर यहां बार-बार आने का मन करता है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के युवाओं को ईको टूरिज्म के माध्यम से स्वरोजगार के अवसर मिले सकें, इसके लिए सुनियोजित ढ़ंग से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार प्रयासरत है। मंत्री गोविंद ठाकुर ने इससे पूर्व एनएच 305 के भूस्खलन क्षेत्र माशनु नाला का निरीक्षण किया। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को पेड़ और क्रेट वॉल लगाने के निर्देश दिए।

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Advertisement
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Advertisement

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है