रेजिडेंट डॉक्टरों की दो घंटे की हड़ताल से सरकार को आया बुखार, बातचीत के लिए बुलाया

बोले परमार: रेजिडेंट डॉक्टर हमारे परिवार का हिस्सा हैं

रेजिडेंट डॉक्टरों की दो घंटे की हड़ताल से सरकार को आया बुखार, बातचीत के लिए बुलाया

- Advertisement -

शिमला। बैंक गारंटी हटाने की मांग कर रहे रेजिडेंट डॉक्टरों की सोमवार को दो घंटे की पेन डाउन (Pen Down) हड़ताल के बाद सरकार को बुखार आ गया। हड़ताल के कारण IGMC शिमला (Shimla) में जैसे ही व्यवस्थाओं पर असर पड़ा, तो स्वास्थ्य मंत्री विपिन सिंह परमार के सुर बदल गए। उन्होंने कहा कि रेजिडेंट डॉक्टर हमारे परिवार का हिस्सा है। अगर वे सरकार के पास अपनी मांग को लेकर आते है, तो उसे गंभीरता से सुना जाएगा।

यह भी पढ़ेंः बैंक गारंटी के विरोध में आईजीएमसी में 2 घंटे की हड़ताल पर गए रेजिडेंट डॉक्टर

परमार ने कहा, ‘सरकार ने पहले ही कैबिनेट की बैठक में बैंक गारंटी को 10 लाख से घटाकर 5 लाख कर दिया है। अन्य राज्यों में भी इस तरह की व्यवस्था है, लेकिन फिर भी अगर डॉक्टर उनके पास आते हैं तो वे उनकी इस मांग के साथ अन्य मांगों पर भी बातचीत कर हल निकालने के लिए राजी हैं’।

आपको बता दें कि इससे पहले रेजिडेंट डॉक्टरों ने मास्टर्स और स्पेश्यलाइजेशन कोर्स के लिए 5 लाख रुपए की बैंक गारंटी (Bank guarantee) के विरोध में पेन डाउन स्ट्राइक की थी। IGMC में डॉक्टरों की हड़ताल (Strike) के चलते सुबह के समय मरीजों को परेशानी भी उठानी पड़ी। ओपीडी में बहुत कम डॉक्टर होने के कारण मरीजों को देर तक इंतजार करना पड़ा। सौ के करीब डॉक्टर (Resident Doctors) इस दौरान विरोध जताते हुए IGMC के बाहर बैठे रहे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है