Covid-19 Update

2,06,369
मामले (हिमाचल)
2,01,520
मरीज ठीक हुए
3,506
मौत
31,726,507
मामले (भारत)
199,611,794
मामले (दुनिया)
×

झटकाः अप्रैल माह में नहीं मिलेगी सस्ती चीनी

झटकाः अप्रैल माह में नहीं मिलेगी सस्ती चीनी

- Advertisement -

अप्रैल माह से डिपुओं में गेहूं का आटा व चावल भी मिलेगा

Govt Depots Subsidy Sugar :  शिमला। उचित मूल्यों की दुकानों पर अप्रैल माह की चीनी सस्ती दरों पर नहीं मिलेगी। वहीं जिन उपभोक्ताओं ने फरवरी व मार्च में चीनी नहीं ली है वे बैकलॉग के आधार पर चीनी ले सकेंगे। वहीं अप्रैल माह से डिपुओं में गेहूं का आटा व चावल भी मिलेगा। यह जानकारी खाद्य एंव नागरिक आपूर्ति विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव तरुण कपूर ने दी है। उन्होंने कहा कि विभाग उपभोक्ताओं को उनकी पात्रता के अनुसार आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता को सुनिश्चित बना रहा है। उन्होंने कहा कि गेहूं का आटा, गेहूं व चावल हि.प्र. राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के सभी गोदामों में उपलब्ध है और उसे उचित मूल्य की दुकानों को भेजा जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी लाभार्थी अप्रैल से गेहूं का आटा, गेहूं तथा चावल उचित मूल्य की दुकानों से प्राप्त कर सकेंगे।

भारत सरकार नहीं दे रही चीनी पर अनुदान 

तरुण कपूर ने  कि भारत सरकार चीनी पर कोई भी अनुदान नहीं दे रही है। इसलिए अप्रैल माह में अनुदान दर पर चीनी उपलब्ध नहीं करवाई जा सकेगी, जिन लाभार्थियों ने फरवरी व मार्च  में चीनी नहीं ली है वे बैकलॉग के आधार पर चीनी ले सकेंगे। कपूर ने कहा कि मार्च माह के लिए सरसों के तेल का आपूर्ति आदेश 10 अप्रैल को जारी कर दिया गया है, जिसका आपूर्ति कार्य प्रगति पर है। आज तक निगम के गोदामों में 17 लाख लीटर सरसों का तेल पहुंच चुका है और उपभोक्ताओं के लिए सरसों का तेल 68 रुपये प्रति लीटर की दर से उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि साबूत मूंग की दाल का माह मार्च के लिए आपूर्ति आदेश जारी कर दिया था और निगम के गोदामों में इसकी आपूर्ति शीघ्र ही हो जाएगी।


40 रुपये प्रति किलोग्राम मिलेंगे मूंग साबूत

तरुण कपूर ने कहा कि मूंग साबूत का विक्रय मूल्य 40 रुपये प्रति किलोग्राम निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि मलका दाल के आपूर्ति आदेश शीघ्र जारी किए जाएंगे और इसे 40 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से बेचा जाएगा। उन्होंने कहा कि एल-1 बोलीदाता द्वारा निविदा नकारने के बाद चना दाल के लिए अल्प अवधि निविदाएं शीघ्र आमंत्रित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि अप्रैल, के लिए ओटीएनएफएसए योजना के तहत 14962.71 मिट्रिक टन गेहूं के आटे का आवंटन हुआ है तथा एनएफएसए वर्ग के तहत 11923 मिट्रिक टन गेहूं का आवंटन किया गया है, जिसका उपभोक्ताओं को वितरण किया जा रहा है। कपूर ने कहा कि अप्रैल, 2017 के लिए ओटीएनएफएसए योजना के तहत 8493 मिट्रिक टन चावल का आवंटन किया गया है तथा एनएफएसए वर्ग के तहत 6957 मिट्रिक टन चावल का आवंटन किया गया है और इसे भी उपभोक्ताओं को वितरित किया जा रहा है।

कम नहीं होने दूंगा चीनी की मिठास, केंद्र ने नहीं दी तो प्रदेश अपने स्तर पर देगा सब्सिडी

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है