- Advertisement -

बड़ी खबर: लाखों नौकरीपेशा लोगों के लिए कल हो सकता है बड़ा ऐलान 

गैच्युटी की समय-सीमा घटाने और न्यूनतम पेंशन को बढ़ाने की हो सकती है घोषणा 

0

- Advertisement -

नई दिल्ली। एम्प्लॉई प्रॉविडेंट फंड ऑर्गनाइजेशन (ईपीएफओ) की मंगलवार को होने वाली बैठक में देश के लाखों नौकरीपेशा लोगों के लिए केंद्र सरकार एक बड़ा ऐलान कर सकती है। माना जा रहा है कि सरकार न केवल गैच्युटी को लेकर बड़ा बदलाव करेगी, बल्कि न्यूनतम पेंशन की घोषणा भी की जा सकती है। 
सरकार गैच्युटी की समय-सीमा को 5 साल से घटाकर 3 साल कर सकती है। वहीं न्यूनतम पेंशन जैसे मुद्दे पर भी बड़ा फैसला ले सकती है। अगर इस पर सहमति बन जाती है तो नौकरीपेशा लोगों को डबल तोहफा मिलेगा। आपको बता दें कि वित्त मंत्रालय न्यूनतम पेंशन पर अपनी मंजूरी पहले ही दे चुका है। माना जा रहा है कि सरकार PF की तर्ज पर गैच्युटी के लिए UAN जैसा खाता बना सकती है।  साल 2015 में पीएफ के लिए UAN की शुरुआत की गई थी। इससे पीएफ को अलग-अलग खातों में रखने के बजाए एक ही UAN में देखा जा सकता है। माना जा रहा है कि सरकार ऐसा ही अब गैच्युटी के लिए कर सकती है। ऐसा करने से लोग अपने गैच्युटी चेक कर सकेंगे।
बढ़ेगा सरकारी बोझ
माना जा रहा है कि सरकार न्यूनतम पेंशन को 2000 रुपए करने का फैसला कर सकती है। 4 दिसंबर की बैठक में इस पर फैसला हो जाएगा। माना जा रहा है कि इसे 1000 से बढ़ाकर 2000 रुपए किया जा सकता है। इस फैसले से जहां लाखों पेंशनभोगियों को लाभ होगा तो वहीं सरकारी खजाने पर बोझ बढ़ेगा। न्यूनतम पेंशन को बढ़ाने से ईपीएफओ पर करीब 3000 करोड़ रुपए के अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। इस बढ़ोतरी से ईपीएस के 40 लाख पेंशन धारकों को सीधा फायदा होगा, जिसमें से 18 लाख लोगों को 1000 रुपए की न्यूनतम पेंशन मिलती है जबकि 22 लाख लोगों की पेंशन 1500 रुपए महीना है।

- Advertisement -

Leave A Reply