Expand

2.5 करोड़ नागरिकों को जारी होंगे स्वास्थय Card

2.5 करोड़ नागरिकों को जारी होंगे स्वास्थय Card

- Advertisement -

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए प्रदेश के 2.5 करोड़ नागरिकों को कम्प्यूटीकृत स्वास्थ्य कार्ड जारी करने का निर्णय लिया है। सभी लोगों के हैल्थ डाटा को UID से जोड़ा जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री अनिज विज ने आज जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थ्य कार्ड की इस अवधारणा के तहत प्रत्येक व्यक्ति के सभी आवश्यक टेस्ट किए जाएंगे और टेस्ट की रिपोर्ट को कम्प्यूटर और स्वास्थ्य कार्ड पर अपलोड किया जाएगा। अस्पताल द्वारा संबंधित व्यक्ति के स्वास्थ्य की स्थिति के संबंध में प्राथमिक रिपोर्ट दी जाएगी। संबंधित व्यक्ति यदि चाहे तो अपने स्वास्थ्य कार्ड का प्रिंट ले सकता है। प्रत्येक व्यक्ति का सारा Soft Data केन्द्रीय सर्वर पर संरक्षित किया जाएगा ताकि संबंधित व्यक्ति UID आधार पर राज्य में किसी भी स्वास्थ्य केन्द्र से यह Data प्राप्त कर सके। इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने स्वास्थ्य कार्ड बनाने के लिए अभिरूचि की अभिव्यक्ति आमंत्रित की है। अभिरूचि की अभिव्यक्ति के प्रस्ताव 15 दिसम्बर, 2016 तक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण निदेशालय, पंचकूला में जमा करवाने होंगे। मरीज की जांच के उपरांत जांच रिपोर्ट मरीज के UHID के साथ स्वत: ही जुड़ जाएगी। मरीज की सभी टेस्ट रिपोर्ट और प्रदान की गई OPD या Indoor सेवाएं भी UHID से जुड़ जाएंगी। जब कभी मरीज दोबारा उसी अस्पताल या किसी अन्य अस्पताल में जाता है तो डॉक्टर मरीज का सारा Record देख सकेगा।

2.5 करोड़ नागरिकों को जारी किए जाएंगे Computerised स्वास्थ्य कार्ड

  • UID से जोड़ा जाएगा लोगों का हैल्थ डाटा
  • सारा Soft Data केन्द्रीय सर्वर पर होगा संरक्षित
  • OPD और Indoor सेवाएं भी UHID से जोड़ी जाएंगीhealth-card2

प्रत्येक पंजीकरण के लिए मरीज को आधार कार्ड या राज्य सरकार द्वारा अनुमोदित कोई अन्य पहचान प्रमाण या निवासी Data Base रिकार्ड जैसे पहचान पत्र का इस्तेमाल करना होगा। पंजीकरण को हरियाणा निवासी Data Base और आधार से जोड़ा जाएगा तथा इस Data Base से प्रमाणीकरण संभव होगा। विज ने कहा कि प्रदेश में 55 स्वास्थ्य केन्द्रों के लिए ई-उपचार और HMIS सुविधा पहले ही अनुमोदित की जा चुकी है तथा इस समय 55 स्वास्थ्य केन्द्रों में से 22 में यह सुविधा क्रियान्वित है। बाद में इस सुविधा का विस्तार और अधिक स्वास्थ्य केन्द्रों में किया जाएगा। स्वास्थ्य कार्डों को स्वास्थ्य विभाग के वर्तमान ई-उपचार और HMIS सॉफ्टवेयर से जोड़ा जाना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि इस कार्य के लिए हार्डवेयर स्थापित करने, मानवशक्ति की भर्ती करने और उनके प्रशिक्षण सहित अन्य आधारभूत संरचना के सृजन के साथ सॉफ्टवेयर  तैयार करना होगा। प्रदेश के नागरिकों का डाटा संकलित करने के लिए मजबूत सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होगी। कम्पनी या एजेंसी या संस्थान ने पूर्व में ऐसा कार्य किया हो और अपनी अभिरूचि की अभिव्यक्ति के साथ उसका प्रमाण संलग्न करना होगा अन्यथा उन पर विचार नहीं किया जाएगा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है