Covid-19 Update

2,06,369
मामले (हिमाचल)
2,01,520
मरीज ठीक हुए
3,506
मौत
31,726,507
मामले (भारत)
199,611,794
मामले (दुनिया)
×

नाभा में अलसुबह गिरा डंगा, 9 परिवार खतरे में

नाभा में अलसुबह गिरा डंगा, 9 परिवार खतरे में

- Advertisement -

अनसेफ घोषित ऐतिहासिक भवन में रह रहे हैं कई परिवार

शिमला।  यहां पर उपनगर नाभा में सरकारी रिहायशी भवन का एक डंगा खिसक गया है। इस कारण भवन में रह रहे 9 परिवारों पर खतरा मंडरा गया है। नाभा में ब्लाक नं. 34 का डंगा गिरने से एक कमरा भी गिर गया है। सोमवार अल सुबह गिरे इस डंगे के गिरने के कारण एक भवन का हिस्सा ढहने के कारण वहां रह लोगों में खौफ बैठ गया है। नाभा में ब्लाक नं. 34 ऐतिहासिक भवन है और अंग्रेजों के समय का बना है। इसे पहले ही अनसेफ घोषित किया जा चुका है और उसके बाद भी वहां रह रहे लोगों को शिफ्ट नहीं किया गया है। इसके साथ-साथ वहां ब्लाक नं. 29 भी अनसेफ है, लेकिन वहां रह रहे 5 परिवारों को भी शिफ्ट नहीं किया गया है। अब ब्लाक नं. 34 का एक डंगा खिसकने से लोगों ने उन्हें सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करने की मांग की है।

दूसरे भवन के लिए कटिंग करने पर गिरा डंगा

बताया जाता है कि वहां पर एक ठेकेदार द्वारा भवन निर्माण किया जा रहा था। इस कारण की गई कटिंग से इस भवन का डंगा खिसक गया और आज तड़के डंगा गिर गया और भवन का एक हिस्सा ढह गया। डंगा ढहने के बाद लोगों ने तुरंत अपना सामान इस भवन से निकालना शुरू किया और खुले मैदान में आ गए। डंगा गिरने के बाद भवन में रह रहे लोगों में प्रशासन के खिलाफ रोष व्याप्त है। उन्होंने कहा कि वे कई बार सरकार को उन्हें किसी दूसरे भवन में शिफ्ट करने की गुहार लगा चुके हैं, लेकिन प्रशासन ने कोई कदम नहीं उठाया और आज इस भवन का एक हिस्सा गिर गया। उन्होंने कहा कि जिस ठेकेदार ने वहां कार्य चला रखा है, उसे भी सचेत किया था कि वह ज्यादा खुदाई न करे, लेकिन उसने भी नहीं सुनी और यह हादसा हो गया।


विधायक भाद्ववाज बोले, लोगों को शीघ्र शिफ्ट करें

उधर, बीजेपी विधायक सुरेश भारद्वाज ने सुबह नाभा पहुंचकर घटना स्थल का दौरा किया। उन्होंने वहां स्थानीय लोगों से मुलाकात की और वहां से इस हादसे को लेकर मुख्य सचिव, डीसी और एसपी से फोन पर बात की। उन्होंने कहा कि नाभा में एक वर्ष से तैयार 60 सरकारी मकान हैं और उनमें इन ब्लाकों से असुरक्षित ब्लाकों में रह रहे परिवारों को नए ब्लाकों में शिफ्ट किया जाए। भारद्वाज ने कहा कि सरकार ने नाभा में 60 नए मकान बनाए हैं और वह एक वर्ष से खाली हैं। लेकिन सरकार ने इन ब्लाकों का आवंटन नहीं किया है। अब नाभा में ब्लाक नं. 34 में रह रहे कर्मचारी परिवारों को इनमें शिफ्ट किया जाए। इसके साथ-साथ एक अन्य असुरक्षित ब्लाक नं. 29 में रह रहे कर्मचारी परिवारों को भी सुरक्षित भवनों में शिफ्ट किया जाए।

शिकंजा! जिला परिषद और BDC सदस्यों की ऐच्छिक निधि पर मनमानी होगी बंद

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है