Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,622
मामले (भारत)
196,707,763
मामले (दुनिया)
×

जीवीके को सरकार का अल्टीमेटमः इंतजाम सुधारो या एंबुलेंस चलाना छोड़ो

जीवीके को सरकार का अल्टीमेटमः इंतजाम सुधारो या एंबुलेंस चलाना छोड़ो

- Advertisement -

शिमला/सोलन। हिमाचल सरकार ने राज्य में 108 एम्बुलेंस का संचालन कर रही जीवीके कंपनी को इंतजाम सुधारने का अल्टीमेटम दिया है। स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने मंगलवार को दो-टूक कहा कि अगर कंपनी एंबुलेंस नहीं चला पा रही है तो वह संचालन बंद कर दे। स्वास्थ्य विभाग खुद 108 एम्बुलेंस सेवा का संचालन करेगा।

विपिन बोले: सरकार से बराबर मिल रहा है फंड

विपिन परमार ने कहा कि प्रदेश के कई हिस्सों से लोगों को समय एम्बुलेंस नहीं मिलने की शिकायतें आ रही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार कंपनी को समय पर फंड मुहैया करवा रही है। ऐसे में कंपनी की जिम्मेदारी बनती है कि वह लोगों को समय पर एम्बुलेंस मुहैया करवाये। उन्होंने यह भी कहा कि पिछली सरकार ने जीवीके को 2022 तक एम्बुलेंस चलाने का काम सौंपा था। ऐसे में बदइंतजामी को दुरुस्त करना कंपनी की ही जिम्मेदारी है।


जीवीके का दावा : सरकार से समय पर फंड नहीं मिला

उधर, जीवीके ने एक हफ्ते के भीतर सभी समस्याओं को सुलझा लेने का भरोसा दिलाया है। कंपनी के मीडिया प्रभारी अभिषेक बंगालिया ने हिमाचल अभी अभी से दावा किया कि पहले तो सरकार से फंड मिलने में देरी हुई। फिर जब फंड आया तो बैंक के सॉफ्टवेयर में खराबी आ गई। इसके चलते कर्मचारियों को वक्त पर सैलरी नहीं मिल सकी। उन्होंने यह भी कहा कि भविष्य में इस तरह की दिक्कत न आए, इसके लिए भी कदम उठाए जा रहे हैं।

दो पाटों के बीच फंसे मरीज, कुछ की जान ही चली गई

एम्बुलेंस कर्मचारियों को सैलरी न मिलने और गाड़ियों में डीजल न होने से एंबुलेंस सड़कों पर खड़ी हैं। मरीजों को ले जाने के लिए समय पर एंबुलेंस नहीं मिलने से बीते एक हफ्ते में 3 लोगों की जान चली गई है। लोग एम्बुलेंस के लिए फोन करते हैं तो उन्हें एम्बुलेंस खराब होने का हवाला दिया जा रहा है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है