Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

बर्फबारी के शिकार किसानों को बड़ी राहत, मिलेगा 7000 रुपए बीघे का मुआवजा

बर्फबारी के शिकार किसानों को बड़ी राहत, मिलेगा 7000 रुपए बीघे का मुआवजा

- Advertisement -

शिमला। लाहौल-स्पीति में पिछले महीने की बर्फबारी से बागवानों को हुए नुकसान की भरपाई जयराम सरकार खुद करेगी। इसके लिए एचपीएमसी लाहौल के ऐसे सेब को 20 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से खरीदेगा, जो मंडियों में बिकने वाले नहीं हैं। इसके साथ ही सरकार ने किसानों को जिले के जनजातीय इलाकों में विशेष गिरदवारी करवाकर बर्फबारी से प्रभावित किसानों को 7000 रुपए प्रति बीघा की दर से मुआवजा देगी।

स्पेशल गिरदवारी करवाएगी सरकार

ट्राइबल एरिया लाहौल-स्पीति में अब प्रदेश सरकार विशेष गिरदवारी करवाएगी। बर्फबारी से किसानों की जमीनें तबाह हो गई थी, जिसके एवज में किसान को 500 रूपये प्रति बीघा के हिसाब से राहत राशि मिलनी थी। जो न के बराबर है। प्रदेश सरकार ने यह निर्णय लिया कि स्पेशल गिरदवारी करने के बाद किसानों को 7 हजार रूपये प्रति बीघा के हिसाब से मुआवजा दिया जाएगा।


बीपीएल की दर से राशन अभी सिर्फ 28 पंचायतों को

जनजातीय विकास मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा ने बताया कि जयराम सरकार ने लाहौल की 28 पंचायतों को बीपीएल रेट पर राशन देने का भी फैसला किया है।डॉ. मारकंडा ने बताया कि 22 अक्टूबर को हुई कैबिनेट की बैठक में लाहौल-स्पीति में हुए नुकसान पर चर्चा हुई थी। उसके बाद ही सरकार ने यह फैसला किया है। स्पीति के लिए सरकार सिर्फ पशु चारा के लिए 100 फीसदी ट्रांसपोर्ट सब्सिडी देगी। बर्फबारी के दौरान जिले में 84 करोड़ का नुकसान हुआ था। इसकी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भेज दी गई है। जिन बागवानों के सेब के पौधे नष्ट हो गए हैं, उन्हें सरकार अपने आधार पर रूट स्ट्रॉक भी वितरित करेगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है