Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,589
मामले (भारत)
196,267,832
मामले (दुनिया)
×

‘ONE NATION ONE CESS’: जीएसटी बिल Himachal विधानसभा में पारित

‘ONE NATION ONE CESS’: जीएसटी बिल Himachal विधानसभा में पारित

- Advertisement -

GST bill: शिमला। सीएम वीरभद्र सिंह द्वारा वन नेशन वन सेस के उदेश्य को ध्यान में रखते हुए गुडस एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) बिल विधानसभा के पटल पर रखने के 60 मिनट के भीतर ही इसे पास कर दिया गया। केंद्र सरकार इसे पहली जुलाई से देशभर में लागू रने जा रही है।  देशभर में अप्रत्यक्ष कर प्रणाली है जिससे देश में यूनिफार्म तौर पर एक कॉमेन मार्केट विकसित होगी। कई राज्यों में यह विधेयक पास हो चुका है। संसद से बिल पास होने के बाद इसे राज्यों की विधानसभाओं से भी पास किया जाना जरूरी है और इसी कड़ी में इसे विधानसभा से पास करवाए जाने के लिए दो दिवसीय विशेष सत्र बुलाया गया था। 

वीरभद्र सिंह द्वारा इसे विधानसभा के पटल पर रखने के बाद पक्ष और विपक्ष के सदस्यों ने इस पर करीब 60 मिनट तक चर्चा की,उसके बाद इसे सर्वसम्मति से पास कर दिया गया। इसे देश और प्रदेश हित में फायदेमंद बताया गया। सीएम वीरभद्र सिंह ने इस विधेयक को पेश करते हुए कहा कि इस विधेयक के पास होने से 10 लाख रुपए तक का कारोबार करने वाले को कोई टैक्स अदा नहीं करना होगा और न ही उन्हें पंजीकरण करना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि इस विधेयक के पास होने से देशभऱ में कामन मार्केट में एक सा टैक्स लगेगा और इससे उद्योग जगत को लाभ होगा और कैश फ्लो में सुधार होगा। बिल पास होने के बाद और सदन को स्थगित करते समय वीरभद्र सिंह के नारों (भारत माता की जय और हिमाचल की जय) से पूरा सदन गूंज पड़ा।  जिस पर धूमल ने चुटकी लेते हुए वीरभद्र की खिल्ली उड़ाई। हालांकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका इस पर पूरा साथ दिया।


जीएसटी स्वतंत्र भारत का सबसे बड़ा आर्थिक सुधार

वहीं, नेता प्रतिपक्ष प्रेमकुमार धूमल ने कहा कि जीएसटी स्वतंत्र भारत का सबसे बड़ा आर्थिक सुधार है और इससे कारोबारी, उत्पादक और उपभोक्ता को लाभ मिलेगा। उनका कहना था कि जीएसटी को विश्व के 150 देश लागू कर चुके हैं और जिन देशों ने इसे लागू किया है वहां जीडीपी 1.5 फीसदी से 2 फीसदी तक बढ़ी है। अब यहां भी यह जीएसटी पहली जुलाई से लागू हो रहा है तो इससे देश के जीडीपी बढ़ेगी। धूमल ने कहा कि यूपीए सरकार ने 2011 में जीएसटी इंट्रोड्यूस्ड किया था, लेकिन इस दौरान यह तय नहीं हो पाया था कि टैक्स का सिस्टम क्या होगा और टैक्स लगाने का अधिकार किसके पास होगा।

सदन की कार्रवाई अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

जीएसटी विधेयक पास होने के बाद विधानसभा अध्यक्ष बीबीएल बुटेल ने सदन की कार्यवाही को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी।

‘ONE NATION ONE CESS’: जीएसटी बिल Virbhadra ने पटल पर रखा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है