Covid-19 Update

59,197
मामले (हिमाचल)
57,580
मरीज ठीक हुए
987
मौत
11,244,092
मामले (भारत)
117,591,889
मामले (दुनिया)

Gudiya Rape and Murder मामले में CBI की पहली गिरफ्तारी,पहचान छिपाई गई,25 तक रिमांड पर

Gudiya Rape and Murder मामले में CBI की पहली गिरफ्तारी,पहचान छिपाई गई,25 तक रिमांड पर

- Advertisement -

शिमला। Gudiya Rape and Murder मामले में CBI ने पहली गिरफ्तारी की है। इस मामले में CBI ने एक स्थानीय व्यक्ति को Arrest किया है। सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार करने के बाद आरोपी व्यक्ति को CBI Special Court में पेश किया गया। जहां से आरोपी को 25 तक CBI रिमांड पर भेजा गया है। रिमांड मिलने के बाद CBI आरोपी को दिल्ली लेकर गई है। बताया जा रहा है कि यह गिरफ्तारी Shimla में हुई है। अभी तक CBI ने व्यक्ति के नाम का खुलासा नहीं किया है। बता दें कि Gudiya Rape and Murder मामले में यह CBI की पहली गिरफ्तारी है। हालांकि लॉकअप मौत मामले में CBI ने मामले की जांच कर रही SIT को गिरफ्तार किया है। पर Gudiya Rape and Murder मामले में अभी तक सीबीआई खाली हाथ थी।

गौरतलब है कि Gudiya Rape and Murder मामले की Himachal High Court में पिछली सुनवाई के दौरान CBI ने दावा किया था कि उसके हाथ पुख्ता सबूत लग चुके हैं और 25 अप्रैल को गुड़िया के कातिल सबके सामने होंगे। मामले की सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस संजय करोल और जस्टिस संदीप शर्मा की अदालत ने CBI को 25 अप्रैल तक Fresh Status Report पेश करने को कहा था और साथ ही CBI Director को अब 9 मई को Court में तलब किया था। मामले की अगली सुनवाई 25 अप्रैल को होगी। अगर Status Report में पूरे सबूत नहीं हुए तो CBI Director को 9 मई को हाईकोर्ट में पेश होना पड़ेगा। CBI के वकील अंशुल बंसल ने दावा किया था कि CBI को अहम सुराग मिले हैं और मामले से जल्द पर्दा उठेगा। इस मामले में जो भी आरोपी हैं वो बेनकाब होंगे। उन्होंने बताया कि 25 अप्रैल से पहले गुड़िया के कातिल सलाखों के पीछे होंगे। CBI के हाथ ऐसे सबूत लगे हैं जो कातिलों को गिरफ्तार करने के लिए काफी हैं। CBI अब 25 अप्रैल को हाईकोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट सौंपेगी।

23 जुलाई, 2017 से शुरू की थी मामले की जांच

CBI ने Gudiya Rape and Murder case की जांच 23 जुलाई, 2017 से शुरू की थी। 22 जुलाई को CBI ने इस मामले में दिल्ली में एफआईआर दर्ज की थी। 23 मार्च को मामले की जांच करते हुए सीबीआई को 8 महीने पूरे हो जाएंगे। मामले में जिस तरह से CBI की अब तक की जांच रही, उसे वह नाकामी की तरफ ही बढ़ती दिख रही है। देश की बड़ी इन्वेस्टिगेशन एजेंसी की लचर जांच पर आम लोग ही नहीं बल्कि खुद High Court भी टिप्पणी कर चुका है। Court ने कई बार फटकार भी लगाई है।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है