- Advertisement -

Gujarat Elections: बीजेपी नेता के बोल, जीता तो मस्जिद और मदरसा को नहीं दूंगा एक भी पैसा

0

- Advertisement -

अहमदाबाद। गुजरात विधानसभा चुनावों का बिगुल बजते ही सभी नेतागण अपना और अपनी पार्टी का प्रचार करने में लग गए। लेकिन दिलचस्प बात जो सामने आई वो ये कि विकास को मुद्दा बना कर चुनावी मैदान में उतरी राजनीतिक पार्टियां धर्म के नाम पर बयानबाजी करने में मशगूल हो गईं। धर्म के नाम पर बयानबाजी का सिलसिला शुरु हुआ जब राहुल गांधी सोमनाथ मंदिर के दर्शन करने गए थे। उस वक्त एक तस्वीर सामने आई जिसमें राहुल के गैर-हिंदू रजिस्टर में हस्ताक्षर को दिखाया गया था और बीजेपी ने इस मुद्दे को खूब भुनाया भी।

कुछ ऐसा ही देखने को मिला डभोई में, जहां बीजेपी उम्मीदवार शैलेश सोठा ने अपने भाषण के दौरान मस्जिद को लेकर कुछ ऐसा ही कह डाला। शैलेश सोठा ने एक भाषण में कहा कि अगर वह जीतते हैं, तो मस्जिद और मदरसा को एक भी पैसा नहीं देंगे।

SC में सिब्बल की दलील के बाद बीजेपी हुई हमलावर

सुप्रीम कोर्ट में राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद की सुनवाई के दौरान कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल द्वारा दी गई दलील पर बीजेपी लगातार हमलावर रुख अपनाए हुए है। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी शायराना अंदाज में राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा था, बदलते हुए मौसम का बदलता हुआ परवाना हूं मैं, गुजरात में जनेउधारी हिंदू तो यूपी-बिहार में मौलाना हूं मैं।

बहरहाल, कुल मिलाकर यह कहना शायद गलत न होगा कि, गुजरात चुनाव पूरी तरह से धर्म और संप्रदाय के रंग में रंगता जा रहा है। ऐसे में एक ओर जहां बीजेपी कांग्रेस पर लगातार हमलावर है, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस द्वारा बीजेपी पर चुनावों को सांप्रदायिक रंग देने का आरोप लगाया जा रहा है।

- Advertisement -

Leave A Reply