Covid-19 Update

1,98,551
मामले (हिमाचल)
1,90,377
मरीज ठीक हुए
3,375
मौत
29,505,835
मामले (भारत)
176,585,538
मामले (दुनिया)
×

मौसम: प्रदेश में बारिश के साथ हुई ओलावृष्टि, Rohtang की चोटियों पर हिमपात

मौसम: प्रदेश में बारिश के साथ हुई ओलावृष्टि, Rohtang की चोटियों पर हिमपात

- Advertisement -

शिमला। मौसम विभाग (Weather Department) की चेतावनी अनुसार आज राजधानी शिमला (Shimla) सहित प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में बारिश (Rain) और कहीं-कहीं ओलावृष्टि (Hail storm) हुई। वहीं रोहतांग की ऊंची पहाड़ियो पर हल्की बर्फबारी भी हुई। मौसम के बदले तेवरों से गर्मी से परेशान लोगों को थोड़ी बहुत निजात जरूर मिली। वहीं मैदानी इलाकों में हुई बारिश से नुकसान की भी खबरे सामने आई हैं।

यह भी पढ़ें: हल्की सी बारिश भी नहीं झेल पाया लाखों रुपए से लगाया डंगा, घरों में घुसा पानी और मलबा

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने प्रदेश में आज और कल भारी बारिश-अंधड़ की चेतावनी (Warning) जारी की है। मौसम विभाग ने कांगड़ा और चंबा जिला के कुछ क्षेत्रों में सतर्क रहने की अपील की है। प्रदेश में एक जून से मौसम में बदलाव आने का पूर्वानुमान है। शनिवार को शिमला में झमाझम बारिश हुई। बारिश से सड़कों पर पानी जमा हो गए। जिसके चलते कुछ समय के लिए ट्रैफिक भी जाम(Traffic Jam) हुआ। कई जगहों पर हल्के भूस्खलन भी हुए हैं। राजधानी में छोटा शिमला के समीप सड़क पर एक पेड़ भी गिर गया। इससे यातायात कुछ समय के लिए बाधित रहा।


करसोग बाजार में दुकानों में घुसा पानी

इसी तरह से करसोग में दोपहर बाद अचानक भारी बारिश और ओलावृष्टि हुई है। जिससे करसोग में खड्डें और नदी नालों में पानी उफान पर रहा। तेज बारिश का पानी करसोग (Karsog) बाज़ार में भी घुस गया। दुकानों में पानी और मिट्टी घुसने से दुकानों के शटर तक जाम हो गए। एसडीएम करसोग सुरेंद्र ठाकुर ने मोके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया और बारिश से दुकानों को हुए नुकसान की भरपाई के लिए हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया है।

रोहतांग की पहाड़ियों पर हुआ हिमपात

कुल्लू जिला में दोपहर बाद अचानक मौसम खराब होने से रोहतांग (Rohtang) के आसपास की ऊंची पहाड़ियों में हल्की ताजा बर्फबारी (Snowfall)  हुई है। वहीं निचले क्षेत्रों में  झमाझम बारिश होने से किसानों बागवानों की फसलों को संजीवनी मिली है। किसानों की टमाटर, बैंगन, गोभी, शिमला मिर्च और अन्य फसलों को बारिश की जरूरत थी। बागवानों की फलदार फसलों को भी इस मौसम से फायदा हुआ है। इससे फलों के आकार में बढ़ौतरी होगी। इस सुहावने मौसम से लोगों को गर्मी से भी राहत मिली है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है