Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

जिसके घर में हकीक वो नहीं रहेगा गरीब

जिसके घर में हकीक वो नहीं रहेगा गरीब

- Advertisement -

हकीक एक नायाब रत्न है जो विभिन्न शारीरिक व्याधियों, दैवीय आपदाओं और भौतिक सकंटों के निवारण में बड़ा चमत्कारी प्रभाव दिखाता है। लाल, काले, पीले, सफेद, मिश्रित और हरे रंग में भी प्राप्त होने वाले इस चिकने और मोमी चमक वाले पत्थर का सौन्दर्य सचमुच बड़ा मोहक होता है। कोई भी हकीक पहना जाए तो निश्चित है कि उसे धारण करने वाला व्यक्ति भूतप्रेत, नजर, जादू-टोना तंत्र-मंत्र और शत्रु भय से सुरक्षित रहता है। शुद्ध हकीक सौभाग्यवर्धक होता है और इसे धारण करने वाला व्यक्ति प्रेम सम्मान भी पाता है। इस रत्न के और भी कई प्रभाव है जिनके बारे में हम आपको बता रहे हैं …


  • दरिद्रता निवारण में इसे प्रभावी रत्न की भांति पहना जाता है। कालिमायुक्त काला तथा गहरे श्यामवर्ण का एक अकीक बहुत ही चिकना और चमकीला होता है। इस पर प्रायः सफेद रंग के चक्रों या धारियों से घिरा हुआ यह पत्थर गौरी कहलाता है। इसके शिवलिंग विशेष रूप से पवित्र माने जाते हैं।
  • हकीक पत्थर का तांत्रिक क्षेत्र में भी बहुत महत्व है। विभिन्न टोटकों एवं प्रयोगों में हकीक पत्थर का उपयोग बहुतायत से किया जाता है। हकीक पत्थर लक्ष्मी का प्रतीक माना गया है। इसलिए कहा गया है कि जिसके घर में हकीक होता है वह कभी द्ररिद्र नहीं हो सकता।

  • यदि 11 हकीक पत्थर लेकर किसी मंदिर में चढ़ा दें और कहें कि मैं अमुक कार्य में विजयी होना चाहता हूं तो विजय प्राप्त करेंगे।
  • यदि 11 हकीक पत्थर पर शत्रु का नाम लेकर यदि जमीन में गाड़ दें तो उसी समय में शत्रु का पतन प्रारम्भ हो जाता है।
  • किसी शुभ महूर्त पर लक्ष्मी पूजन के पश्चात एक हकीक पत्थर अपने दाएं हाथ की मुट्ठी में बंद कर लें और फिर “श्री” शब्द का 21 बार मानसिक जाप अर्थात मन में जाप करें और फिर इस पत्थर को अपने गल्ले में, बाक्स में, तिजोरी में रख दें। आप देखेंगे कि नित्य प्रति आय की आवक बढ़ रही है।

  • ऐसे व्यक्ति जो आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे हैं उन्हें तो यह प्रयोग अवश्य ही करने चाहिए। किसी शुभ महूर्त पर रात्रि में पूजा-उपासना करने के पश्चात एक हकीक माला लें और उससे 108 बार “ऊँ हीं हीं श्रीं श्रीं लक्ष्मी वासुदेवाय नमः ” मंत्र का जाप करें। इसके बाद इस माला को अपने पूजा घर में रखें अथवा महालक्ष्मी के चित्र में चढ़ा दें। शीघ्र ही आप स्वयं को आर्थिक रूप से दृढ़ पाएंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है