Covid-19 Update

2,60,321
मामले (हिमाचल)
2,39. 550
मरीज ठीक हुए
3916*
मौत
38,903,731
मामले (भारत)
347,844,974
मामले (दुनिया)

21 साल बाद भारत को मिला Miss Universe 2021 का ताज, चंडीगढ़ की हरनाज संधू ने बढ़ाया मान

साल 2000 में लारा दत्ता ने ये पेजेंट जीत बढ़ाया था देश का नाम

21 साल बाद भारत को मिला Miss Universe 2021 का ताज, चंडीगढ़ की हरनाज संधू ने बढ़ाया मान

- Advertisement -

मिस यूनिवर्स 2021 में भारत ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है। भारत की हरनाज संधू (Harnaaz Sandhu) ने 70वें मिस यूनिवर्स 2021 (Miss Universe 2021) का खिताब अपने नाम कर लिया है। इस प्रतियोगिता के टॉप 3 में पराग्वे और दक्षिण अफ्रीका की सुंदरियां भी पहुंचीं थीं। साल 2000 में लारा ने यह पेजेंट जीत कर देश का मान बढ़ाया था और अब हरनाज 21 साल बाद देश में क्राउन (crown) वापस लाने में सफल रही हैं। सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) और लारा दत्ता (Lara Dutta) के बाद हरनाज संधू देश की तीसरी मिस यूनिवर्स बन गई हैं।

ये भी पढ़ें-देश का ऐसा शहर जहां आप गर्मियों में जल जाओगे और सर्दियों में जम जाओगे, यहां पढ़ें पूरी स्टोरी

गौरतलब है कि साल 1994 में सुष्मिता सेन भारत के लिए यह खिताब जीत कर आई थी। वहीं, सोमवार को इजराइल के इलियट में मिस यूनिवर्स 2021 प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें भारत की हरनाज संधू पहले स्थान पर रही, जबकि मिस परग्वे दूसरे और मिस साउथ अफ्रीका तीसरे स्थान पर रही। प्रतियोगिता के आरिखी राउंड के तौर पर हरनाज से सवाल पूछा गया कि आज के दबावों से निपटने के लिए युवा महिलाओं को आप क्या सलाह देंगी। इस पर हरनाज ने कहा कि आज का युवा जिस सबसे बड़े दबाव का सामना कर रहा है, वह है खुद पर विश्वास करना। यह जानना कि आप यूनीक हैं, आपको सुंदर बनाता है। अपनी तुलना दूसरों से करना बंद करें और दुनिया भर में हो रही अधिक महत्वपूर्ण चीजों के बारे में बात करें। बाहर आओ, अपने लिए बोलो, क्योंकि तुम अपने लाइफ के लिडर हो, तुम अपनी आवाज हो। मुझे खुद पर विश्वास था और इसलिए मैं आज यहां खड़ी हूं।

वहीं, हरनाज से पूछा गया था कई लोग सोचते हैं कि जलवायु परिवर्तन एक धोखा है, अन्यथा आप उन्हें समझाने के लिए क्या करेंगी’ हरनाज ने अपने जवाब से सभी को प्रभावित कर दिया। उन्होंने कहा कि मेरा दिल यह देखकर टूट जाता है कि प्रकृति कितनी समस्याओं से गुजर रही है, और यह सब हमारे गैर-जिम्मेदार व्यवहार की वजह से है। मुझे पूरी तरह से लगता है कि यह कार्रवाई करने और कम बात करने का समय है। क्योंकि हमारा हर एक्शन प्रकृति को बचा सकता है या मार सकती है। प्रिवेंट और प्रोक्टेक्ट, पश्चाताप और रिपेयर से बेहतर है और यही मैं आज आप लोगों को समझाने की कोशिश कर रही हूं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है