Covid-19 Update

1,61,072
मामले (हिमाचल)
1,24,434
मरीज ठीक हुए
2348
मौत
25,227,970
मामले (भारत)
164,275,753
मामले (दुनिया)
×

प्रदर्शन स्थलों पर किसानों की मौत पर कृषि मंत्री जेपी दलाल बोले-‘किसान घर होते तो भी मरते’

बयान पर विवाद होने के बोले मंत्री मेर बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया

प्रदर्शन स्थलों पर किसानों की मौत पर कृषि मंत्री जेपी दलाल बोले-‘किसान घर होते तो भी मरते’

- Advertisement -

चंडीगढ़। कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के खिलाफ धरने के दौरान बहुत से किसानों की मौत हुई है। इनमें से कुछ किसानों ने तो आत्महत्या भी की है। अब हरियाण सरकार के कृषि मंत्री (Agriculture Minister) ने किसानों की मौतों पर असंवेदनशील और गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी की है। प्रदर्शन स्थलों (Protest Sites) पर किसानों की मौत पर हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल (Agriculture Minister JP Dalal) ने कि वो घर पर रहते तब भी उनकी मौत (Death) हो जाती। आपको बता दें कि किसान संगठनों (Farmer Organizations) द्वारा कहा जा रहा है कि प्रदर्शन स्थलों में करीब 200 किसानों की मौत हुई है। प्रदर्शन स्थलों में किसानों (Farmers) की मौत के बारे में एक पत्रकार ने भिवानी में कृषि मंत्री से सवाल किया था, जिसके जवाब में उन्होंने यह बात कही। कृषि मंत्री जेपी दलाल का कहना है कि किसान घर रहते तब भी मरते।


यह भी पढ़ें: केरल-तमिलनाडु के दौरे पर PM Modi, चेन्नई में सेना को सौंपा Arjun Tank, जानिए क्या है खासियत

कृषि मंत्री जेपी दलाल के इस बयान के बाद किसान संगठनों ने रोष जाहिर किया है और हरियाणा सरकार से मांग की कि कृषि मंत्री जेपी दलाल को मंत्रीपद से बर्खास्त किया जाए। पत्रकारों से बातचीत के दौरान कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि क्या एक से दो लाख लोगों में से छह महीने में 200 लोगों की मौत नहीं होती। कृषि मंत्री ने आग कहा कि कोई दिल का दौरा पड़ने से मर रहा है और कोई बीमार पड़ने से। अब बयान देने के बाद कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि सोशल मीडिया पर उनके बयान को तोड़ा-मरोड़ा गया है। इसके अलावा उन्होंने अपने बयान पर माफी भी मांगी है। कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा है कि मेरे बयान का गलत मतलब निकाला जा रहा है। मेरे बयान से कोई आहत हुआ है तो मैं माफी मांगता हूं।

कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी कृषि मंत्री जेपी दलाल के बयान की आलोचना की है। रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि ऐसा बयान असंवेदनशील व्यक्ति ही दे सकता है। इसके अलावा हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने भी कृषि मंत्री जेपी दलाल के बयान की आलोचना की है। साथ ही किसान संगठनों के कई प्रतिनिधियों ने कृषि मंत्री जेपी दलाल के बयान पर रोष जाहिर करते हुए आपत्ति जताई है। जय किसान आंदोलन के सदस्य योगेंद्र यादव ने कृषि मंत्री जेपी दलाल के बयान को अमानवीय बताया। इसके साथ ही योगेंद्र यादव ने कहा कि उन्हें कृषि मंत्री के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है