Expand

झज्जर व पलवल में Ornamental Fish हेचरी को CM की Yes

झज्जर व पलवल में Ornamental Fish हेचरी को CM की Yes

- Advertisement -

चंडीगढ़। आज विश्व मछली दिवस के अवसर पर हरियाणा के CM मनोहर लाल खट्टर ने झज्जर व पलवल में Ornamental Fish (सजावटी मछली) के उत्पादन के लिए हेचरी स्थापित करने हेतू अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। यह जानकारी मतस्य पालन मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने दी। उन्होंने बताया कि पलवल और मेवात क्षेत्र के लिए मछली पालन को बढावा दिया जाएगा। लगभग 14 करोड़ के इस परियोजना के अंतर्गत झज्जर में दो करोड़ रूपये इसी वर्ष खर्च होंगे। जबकि 12 करोड़ रूपये अगले वित्तिय वर्ष में खर्च किए जाएंगे। पलवल के जनाचोथी गांव में 23 एकड़ में फिश हेचरी लगाई जाएगी। इन जिलों के किसानों को दिल्ली के निकट के इलाकों में मछली उत्पादन करके दिल्ली को सप्लाई देकर अधिक लाभ कमाने हेतू प्रेरित किया जाएगा। धनखड़ ने बताया कि जापानी मछली पन्गेसियस का उत्पादन छोटे तालाबों में होता है। गांव के जो गंदे पानी के छोटे तालाब होते हैं जिनमें पानी कम रहता है उनमें इस मछली का उत्पादन होता है। इससे जहां गंदगी साफ हो सकेगी वहीं किसानों को मछली उत्पादन से आय होगी।

  • Ornamental Fish हेचरी को CM मनोहर लाल खट्टर की Yes
  • झज्जर व पलवल में स्थापित की जाएंगी Ornamental Fish हेचरी
  • पलवल के जनाचोथी गांव में 23 एकड़ में लगाई जाएगी Fish हेचरी

धनखड़ ने बताया कि हरियाणा एक ऐसा राज्य है जहां कोई समुद्र नहीं लगता। इसके बावजूद हरियाणा में आज 108 किसान जुड़े हैं और रिकार्ड मछली का उत्पादन कर रहे हैं, जिन्हें अगले साल बढाकर एक हजार करने का लक्ष्य रखा गया है।fish

आज हरियाणा में मछली का उत्पादन 14 टन प्रति हैक्टेयर हो गया है, जो कि देश में दूसरे स्थान पर है। उन्होंने दावा किया कि अगले साल हरियाणा प्रति हैक्टेयर मछली उत्पादन में नंबर एक पर होगा। धनखड़ के अनुसार मछली पालन में किसानों को निरंतर जोड़ने का काम चल रहा है। इसके अलावा प्रदेश में कुल 22 हजार 400 किसान काम कर रहे हैं, अगले साल में इसे बढ़ाकर 48 हजार करने का लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि आज हरियाणा के लिए केंद्र से 153 करोड़ से अधिक की योजनाओं की मंजूरी मिली है, जिससे हरियाणा में मछली उत्पादन निरंतर बढ़ रहा है। पहले केंद्र से 3 करोड़ की मदद आती थी। पिछले साल यह मदद राशी बढ़कर 44 करोड़ रुपये हुई। जबकि अगले वर्ष में यह राशी 153 करोड़ को पार कर जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है