×

कृषि कानून : किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा सरकार खून मांगती है

कुंडली और टिकरी बॉर्डर पर भी गई दो किसानों की जान

कृषि कानून : किसान ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा सरकार खून मांगती है

- Advertisement -

चंडीगढ़। नए कृषि कानूनों (Agricultural Laws) के खिलाफ किसान अभी भी प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच एक बार फिर कृषि कानूनों के विरोध में किसान द्वारा आत्महत्या (Farmer Suicide) करने का मामला सामने आया है। यही नहीं, किसान ने एक सुसाइड नोट (Suicide Note) भी लिखा है। इसमें किसान ने लिखा है कि सरकार खून मांगती है। इसके अलावा टिकरी बॉर्डर पर एक और किसान की मौत (Farmers Death) हुई है। हालांकि इस किसान की मौत का कारण दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ना बताया गया है। वहीं, कुंडली बॉर्डर (Kundli Border) पर भी किसान की मौत हुई है।


यह भी पढ़ें: वोल्वो बस में सवार थे हरियाणा के दो लोग, पुलिस ने तलाशी ली तो मिली डेढ़ किलो चरस

जानकारी के अनुसार किसान ने बहादुरगढ़ के कसार में सर्विस रोड के पास पेड़ से फंदा लगाकर आत्महत्या (Farmer Suicide) कर ली है। मृतक किसान हरियाणा के हिसार (Haryana Hisar) जिले के सिसाय गांव के रहने वाला था। किसान नाम राजबीर था जिसकी उम्र 47 साल थी है। राजबीर (Rajbeer) काफी दिनों से आंदोलनरत किसानों की लंगर सेवा में था। बताया जा रहा है कि राजबीर ने आत्महत्या (Suicide) से पहले एक सुसाइड नोट लिखा है। सुसाइड नोट (Suicide Note) में तीनों कृषि कानूनों को रद्द करना ही राजबीर ने अपनी अंतिम इच्छा जताई है। राजबीर ने उसने किसानों से आखिरी अपील करते हुए लिखा है कि तीनों कृषि कानूनों (Agricultural Laws) को रद्द करवाने के बाद ही घर जाना। भगत सिंह (Bhagat Singh) ने देश के लिए जान दी थी और मैं किसान भाइयों के लिए जान दे रहा हूं।

सुसाइड नोट (Suicide Note) में आगे लिखा गया है कि सरकार किसानों (Farmers) का खून मांगती है और खून मैं देता हूं। यही नहीं किसान ने अपने इस सुसाइड नोट (Suicide Note) में खुद को रोहतक के सांसद दीपेंद्र हुड्डा और महम विधायक बलराज कुंडू का फैन भी बताया है। इसके अलावा टिकरी बॉर्डर पर दिल का दौरा पड़ने से जिस बुजुर्ग किसान की हुई है उनका नाम जनक सिंह (70) है। जनक सिंह पंजाब के सुनाम के गांव गडूआं के रहने वाले थे। कुंडली बॉर्डर (Kundli Border) पर भी रविंद्र नाम के किसान की मौत हुई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है