Covid-19 Update

58,460
मामले (हिमाचल)
57,260
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,063,038
मामले (भारत)
113,544,338
मामले (दुनिया)

बांग्लादेश में फिर हुई हसीना सरकार की वापसी, 260 सीटों पर जीता चुनाव

बांग्लादेश में फिर हुई हसीना सरकार की वापसी, 260 सीटों पर जीता चुनाव

- Advertisement -

नई दिल्ली। बांग्लादेश के आम चुनाव में पीएम शेख हसीना का पार्टी अवामी लीग ने लगातार तीसरी बार जीत हासिल की है। हसीना की अवामी लीग ने 300 में से 260 सीटों पर जीत दर्ज की। वहीं, इसकी मुख्य सहयोगी जतिया पार्टी को 21 सीटें मिलीं। वनडे टीम के कैप्टन मशरफे मुर्तजा ने भी अवामी लीग के टिकट पर चुने गए। प्रमुख विपक्षी दल नेशनल यूनिटी फ्रंट (एनयूएफ) और इसके सहयोगी बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) महज 7 सीटों पर सिमट कर रह गई।

ये भी पढ़ें: प्रोटोकॉल तोड़ हसीना का स्वागत करने पहुंचे मोदी

विपक्ष ने लगाया चुनाव में गड़बड़ी का आरोप

विपक्ष ने चुनाव में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए दोबारा चुनाव कराने की मांग की। 300 में से 299 सीटों के नतीजे आए हैं। प्रत्याशी की मौत के चलते एक सीट पर चुनाव स्थगित कर दिया गया था।आम चुनाव के बीच हुई हिंसा में एक सुरक्षाकर्मी समेत 17 लोगों के मारे जाने की खबर है। बांग्लादेश चुनाव आयोग के मुताबिक, हसीना को दक्षिण पश्चिमी गोपालगंज सीट से जीत हासिल की। उन्हें 2,29,539 वोट मिले। जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी बीएनपी के उम्मीदवार को महज 123 वोट मिले। एनयूएफ गठबंधन में बीएनपी, गोनो फोरम, जतिया समाजतांत्रिक दल (जेएसडी), नागोरिक ओकाया और कृषक श्रमिक जनता लीग शामिल हैं।

ये भी पढ़ें: बांग्लादेश: वोटिंग के दौरान झड़प, 5 की मौत और 10 घायल

चुनाव के दौरान 6 लाख सुरक्षा जवान तैनात थे

एनयूएफ के संयोजक कमल हुसैन ने कहा, “हम चुनाव परिणामों को अस्वीकार करते हैं। हमारे पास सभी सेंटरों पर फर्जीवाड़े की रिपोर्ट है। हमारी इलेक्शन कमीशन से मांग है कि चुनावों को तुरंत निरस्त किया जाए। उधर, बीएनपी के जनरल सेक्रेटरी मिर्जा फखरुल आलमगीर ने चुनावों को “क्रूर मजाक” बताया। बांग्लादेश चुनावों में हिंसा की आशंका को देखते हुए चुनाव आयोग ने 6 लाख सुरक्षा जवानों को तैनात किया था। मुख्य चुनाव आयुक्त नूरुल हुदा ने बताया कि देश में करीब 10.41 करोड़ मतदाता हैं। कुछ घटनाओं को छोड़कर चुनाव शांतिपूर्ण रहा। सुरक्षा कारणों के चलते मतदान के दौरान इंटरनेट सेवा को बंद रखा गया था।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है