Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

Diabetes भगाए शर्मीली छुई मुई

Diabetes भगाए शर्मीली छुई मुई

- Advertisement -

छुई मुई का पौधा अपने आप में थोड़ा अजीब तरह का पौधा है। जैसे ही हम इस पौधे को छूते हैं ये खुद को सिकोड़कर छोटे रूप में बदल जाता है। उस समय ऐसा प्रतीत होता है मानो यह हमसे शर्मा रहा हो और यही कारण है कि इसका नाम लाजवंती पड़ा। इसके फूल गुलाबी रंग के होते हैं, जो देखने में बहुत आकर्षक और सुन्दर प्रतीत होते हैं। छुई मुई का दूसरा नाम लाजवंती भी है। लाजवंती नमी वाले स्थानों में ज्यादा पाई जाती है। इसके छोटे पौधे में अनेक शाखाएं होती हैं। इसका वानस्पतिक नाम माईमोसा पुदिका है। संपूर्ण भारत में होने वाला यह पौधा अनेक रोगों के निवारण के लिए उपयोग में लाया जाता है। इसके फूल गुलाबी रंग के होते हैं।


  • यदि लाजवंती की 100 ग्राम पत्तियों को 300 मिली पानी में डालकर काढ़ा बनाया जाए और इसे डायबिटीज रोगी को दिया जाए तो डायबिटीज में काफी फायदा होता है।
  • यदि किसी को अधिक पेशाब आने की समस्या है तो छुई मुई के पत्तों को सबसे पहले पानी में पिस लें और एक लेप तैयार करें। अब इस लेप को नाभि के निचले हिस्से लगाएं, इससे बार बार पेशाब आने की समस्या में शीघ्र आराम मिलता है।
  • लाजवंती की जड़ों का चूर्ण (3 ग्राम) दही के साथ खूनी दस्त में लें। जड़ों का पानी में तैयार काढ़ा भी खूनी दस्त रोकने में कारगर होता है।
गर्मी में ठंडक देता खट्टा-मीठा फालसा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है