Covid-19 Update

2,17,140
मामले (हिमाचल)
2,11,871
मरीज ठीक हुए
3,637
मौत
33,504,534
मामले (भारत)
229,927,024
मामले (दुनिया)

अनुराग-कपिल और प्रवेश के मामले पर सरकार ने कहा- इन तीन Hate Speech के अलावा कई और भी हैं

अनुराग-कपिल और प्रवेश के मामले पर सरकार ने कहा- इन तीन Hate Speech के अलावा कई और भी हैं

- Advertisement -

नई दिल्ली। दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) मामले में बीजेपी (BJP) नेताओं की स्पीच को लेकर उनके खिलाफ मामले दर्ज करने की मांग वाली याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में सुनवाई हुई। बुधवार को हुई मामले की सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को भड़काऊ भाषण देने के आरोप में बीजेपी नेता अनुराग ठाकुर, (Anurag Thakur) कपिल मिश्रा और प्रवेश वर्मा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने पर निर्णय लेने को कहा था। आज दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने कोर्ट में अपना जवाब दाखिल करने के लिए समय मांगा है। इस पर हाई कोर्ट ने 13 अप्रैल तक का समय दे दिया है। तब तक केंद्र सरकार को भड़काऊ भाषण पर रिपोर्ट सौंपनी होगी। अब मामले की अगली सुनवाई 13 अप्रैल को होगी।

यह भी पढ़ें: टी-20 वर्ल्ड कप : न्यूजीलैंड को हराकर सेमीफाइनल में पहुंची टीम इंडिया

इसके साथ ही हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार यानी गृह मंत्रालय को दिल्ली हिंसा मामले में पक्षकार बनाए जाने की दलील को मंजूरी दी। केंद्र और दिल्ली पुलिस के वकील सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता (Tushar Mehta) ने कहा कि कल कोर्ट ने आदेश जारी कर जवाब मांगा था कि जो भड़काऊ बयान दिए गए थे उनपर करवाई की जाए, जबकि ये बयान 1-2 महीने पहले दी गए हैं।

याचिकाकर्ता ने चुनिंदा सिर्फ तीन वीडियो का हवाला दिया है

तुषार मेहता ने अपनी दलील पेश करते हुए कहा कि याचिकाकर्ता केवल तीन भड़काऊ बयानों को चुनकर कार्रवाई की मांग नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि हमारे पास इन तीन हेट स्पीच के अलावा कई और हेट स्पीच है, जिसको लेकर शिकायत दर्ज कराई गई। याचिकाकर्ता ने चुनिंदा सिर्फ तीन वीडियो का हवाला दिया है। एक जनहित याचिका में ऐसा नहीं होता। केंद्र को पक्षकार बनाया जाए या नहीं ये कोर्ट को तय करना है, याचिकाकर्ता को नहीं। हम हिंसा को नियंत्रित करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। केंद्र की इस दलील पर याचिकाकर्ता की ओर से बोले वकील कोलिन गोंजाल्विश ने कहा कि सबसे पहले आज ही सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज हों, फिर फटाफट गिरफ्तारी भी हो।

सुनवाई से पहले दिल्ली के उपराज्यपाल ने एक अहम आदेश जारी किया

जिसका जवाब देते हुए तुषार मेहता ने कहा कि कहा कि मौजूदा माहौल इस बात के लिए उपयुक्त नहीं है कि हम चुनिंदा तरीके से उन्हीं तीन वीडियो ( बीजेपी नेताओं कपिल मिश्रा, अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा की स्पीच) को देखे। हमारे पास और भी ऑडियो और वीडियो क्लिप्स है। अथॉरिटी वीडियो को देख रही है। इसके बाद सही वक्त पर पुलिस कार्रवाई करेगी। फिलहाल सभी हितधारक हालात को काबू करने की कोशिश कर रहे हैं। इस सुनवाई से पहले दिल्ली के उपराज्यपाल ने एक अहम आदेश जारी किया। दिल्ली पुलिस का पक्ष सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता, एडिशनल सॉलिसिटर जनरल मनिंदर आचार्य और वरिष्ठ वकील रजत नैय्यर रखेंगे।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है