Covid-19 Update

2,05,391
मामले (हिमाचल)
2,01,014
मरीज ठीक हुए
3,503
मौत
31,484,605
मामले (भारत)
196,043,557
मामले (दुनिया)
×

थम गई राजधानीः मलबे में दबी 40 गाड़ियां, पेड़ गिरे, मकानों को खतरा 

थम गई राजधानीः मलबे में दबी 40 गाड़ियां, पेड़ गिरे, मकानों को खतरा 

- Advertisement -

शिमला। एक दिन में ही बारिश ने जमकर कहर बरपाया है। शिमला शहर की रफ्तार मानो थम सी गई है। कई भवनों में दरारें आने से उन्हें खाली करवाया गया है। ऐसे में लोग बेघर हो गए हैं। साथ ही करीब 40 वाहन मलबे में दब गए हैं। यहीं नहीं कई सड़कें सुबह से ही बंद हैं। बिजली आपूर्ति भी बाधित है। बता दें कि बारिश के चलते शहर के आधा दर्जन भवनों को खतरा पैदा हो गया है। डली में ही आठ भवनों में बड़ी-बड़ी दरारें आई हैं। इसके चलते इन भवनों को खाली करवा दिया गया है।
इन भवनों में रह रहे दर्जनों लोग बेघर हो गए हैं। शहर के अन्य हिस्सों में भी भवनों पर मलबा गिरा है। जिला प्रशासन ने कई भवनों को खाली करवा दिया है।  इसके अलावा शिमला शहर के सभी 34 वार्डों में जगह-जगह पेड़ गिरने और भू-स्खलन की सूचना मिली है। शहर के संजौली, खलीनी, पंथाघाटी, अनाडेल, बैनमोर, फागली व विकासनगर समेत कई क्षेत्रों में भारी नुकसान हुआ है।
भारी बारिश से जहां शहर की अधिकतर सड़कें सुबह ही बंद हो गईं, वहीं भू-स्खलन से करीब चार दर्जन से ज्यादा पेड़ गिरे हैं, जबकि मलबे के नीचे शहर में करीब 40 से ज्यादा वाहन मलबे के नीचे दब गए हैं। शहर में अधिकतर हिस्सों में सड़क किनारे लोग गाड़ियां खड़ी कर देते हैं, जिसके चलते बरसात में  मलबे की चपेट में आ रही हैं।

शिमला शहर में हुआ भारी नुकसानः डीसी

डीसी शिमला अमित कश्यप ने बताया कि भारी बारिश से शिमला शहर में भारी नुकसान हुआ है, जिसका आंकलन किया जा रह है । अभी तक शहर में जो सड़कें भू-स्खलन के चलते मलबे में टूट चुकी थीं उन सड़कों पर यातायात के लिए बहाल कर दिया है। उन्होंने बताया कि भारी बारिश से शिमला जिला में किसी जान का अभी तक कोई समाचार नहीं मिला है।
उन्होंने कहा कि बरसात के चलते अब जिला प्रशासन ने लोगों को अलर्ट कर दिया है। यदि किसी व्यक्ति को वर्तमान परिस्थितियों में किसी तरह के खतरे का सामना करना पड़े तो वह जिला प्रशासन व जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा स्थापित नियंत्रण कक्ष में दूरभाष संख्या 1077 पर तुरंत सूचना दें।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है